S M L

गूगल ने डूडल बनाकर जर्मन ग्लास केमिस्ट मार्गा फॉलस्टिक को दी श्रद्धांजलि

कई साल तक प्रैक्टिस करने के बाद फॉलस्टिक पूर्णकालिक वैज्ञानिक के तौर पर काम करने लगीं और अपना पूरा ध्यान ग्लास केमिस्ट्री पर केंद्रित किया. उन्होंने मेल्टिंग पॉट भी बनाया जो काफी उच्च तापमान पर भी नहीं पिघलता

Updated On: Jun 16, 2018 10:50 AM IST

FP Staff

0
गूगल ने डूडल बनाकर जर्मन ग्लास केमिस्ट मार्गा फॉलस्टिक को दी श्रद्धांजलि

गूगल ने जर्मन ग्लास केमिस्ट मार्गा फॉलस्टिक को डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी. 16 जून को फॉलस्टिक का 103वीं जन्मदिन है जिसपर पर गूगल ने उन्हें याद किया है.

सन 1915 में जन्मी फॉलस्टिक के नाम पर 40 पेटेंट हैं. फॉलस्टिक दुनिया की मशहूर ग्लास और ग्लास-सेरामिक कंपनी स्कॉट-एजी कंपनी की पहली महिला अधिकारी थीं. अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने 300 से ज्यादा ऑप्टिकल ग्लास पर काम किया.

सन 1973 में उन्हें सबसे ज्यादा ख्याति मिली जब काफी हल्के एसएफ-64 लेंस का इजाद किया. कंपनी से रिटायर होने के बाद फॉलस्टिक कभी स्थिर नहीं बैठीं और दुनिया में घूम-घूम कर उन्होंने ग्लास कॉन्फ्रेंस पर लेक्चर देना जारी रखा.

स्कॉट-एजी में उन्होंने लगातार 44 साल तक काम किया. 1973 में उन्हें एसएफ-64 लेंस इजाद करने के लिए अमेरिकन इंडस्ट्रीअल रिसर्च काउंसिल की ओर से आईआर-100 अवॉर्ड से नवाजा गया.

फॉलस्टिक ने अपना करिअर ऑप्टिकल फाइबर बनाने वाली एक कंपनी में बतौर ग्रेजुएट असिस्टेंट रूप में की. बाद में उनका दायरा बढ़ता गया और उनका रिसर्च सनग्लास, एंटी-रिफ्लेक्टिंग ग्लास और ग्लास के मुखौटे बनाने में काम आया. कई साल तक प्रैक्टिस करने के बाद वे पूर्णकालिक वैज्ञानिक के तौर पर काम करने लगीं और अपना पूरा ध्यान ग्लास केमिस्ट्री पर केंद्रित किया. उन्होंने मेल्टिंग पॉट भी बनाया जो काफी उच्च तापमान पर भी नहीं पिघलता.

82 साल की उम्र में 1 फरवरी 1998 को फॉलस्टिक की मृत्यु हो गई.

(इनपुट एजेंसियों से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi