विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

कैसे दुरुस्त करें अपनी क्रेडिट रिपोर्ट

इन बातों को ध्यान में रखकर क्रेडिट रिपोर्ट बना सकते हैं बेहतर

Pratima Sharma Pratima Sharma Updated On: Nov 18, 2016 12:54 PM IST

0
कैसे दुरुस्त करें अपनी क्रेडिट रिपोर्ट

रोहन नया घर खरीदने की तैयारी कर रहे थे. उनकी सैलरी अच्छी थी. लिहाजा रोहन को जरूरत के मुताबिक होम लोन मिलने की पूरी उम्मीद थी.

लोन के लिए आवेदन करने के बाद रोहन को तगड़ा झटका लगा.

पता चला कि सिबिल क्रेडिट रिपोर्ट ठीक नहीं होने की वजह से उन्हें उतना लोन नहीं मिल पाएगा जितनी उन्हें जरूरत थी.

रोहन हैरान थे कि पहले कोई लोन नहीं लेने के बावजूद उनका क्रेडिट रिपोर्ट कैसे खराब हो गया.

रोहन को यह पता था कि लोन डिफॉल्ट करने पर क्रेडिट रिपोर्ट खराब होती है.

लेकिन एक बात जो रोहन को नहीं पता थी कि क्रेडिट कार्ड का बिल समय पर नहीं चुकाने से भी क्रेडिट रिपोर्ट खराब होती है.

ऐसी ही कई छोटी-छोटी गलतियों के कारण आपकी क्रेडिट रिपोर्ट खराब हो जाती है.

आपके साथ भी रोहन जैसा न हो इसलिए कुछ बातों को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है. यानी थोड़ी सी सावधानी और जिंदगी भर की आसानी.

क्रेडिट कार्ड का बिल वक्त पर भरें

यह कोई रॉकेट साइंस नहीं है. जितनी बार बिल भरने में देरी करते हैं उतनी बार आपकी क्रेडिट रिपोर्ट नेगेटिव होती है.

अनसिक्योर्ड लोन से बचें

Plastic_Transaction

पर्सनल लोन, क्रेडिट कार्ड पर लोन जैसे अनसिक्योर्ड लोन से बचने की कोशिश करें. अगर आपको लोन लेना ही है तो सिक्योर्ड लोन चुनें.

इस तरह के लोन के लिए आपके पास एसेट्स होना जरूरी है, लेकिन इनसे क्रेडिट रिपोर्ट पर नकारात्मक असर नहीं होगा.

जमीन जायदाद या गहने गिरवी रखकर आप सिक्योर्ड लोन ले सकते हैं.

बेवजह पूछताछ से बचें

अगर आप लोन के लिए आने वाले टेलीकॉलर के हर फोन कॉल पर बात कर रहे हैं.

उनके रेट और दूसरे आॅफर पूछ रहे हैं तो इससे बात बिगड़ सकती है. जी हां, अगर आपको लोन की जरूरत नहीं है तो बेवजह पूछताछ से बचें.

आप जितनी पूछताछ करेंगे आपकी क्रेडिट रिपोर्ट उतनी खराब होती जाएगी.

सेटलमेंट से बिगड़ेगी बात

क्रेडिट रिपोर्ट के लिए सबसे बुरा है सेटलमेंट. पहली नजर में यह आपको बचत लग सकती है लेकिन लॉन्ग टर्म में यह बुरा है.

मान लीजिए आपके क्रेडिट कार्ड का बिल 1 लाख रुपये है और आप सेटलमेंट करवा कर उसे 70,000 या 80,000 रुपये पर ले आते हैं.

तो इसका सीधा झटका आपके क्रेडिट रिपोर्ट को लग सकता है. हर बार जब भी आप क्रेडिट कार्ड का सेटलमेंट करवाते हैं आपकी क्रेडिट रिपोर्ट कमजोर होती जाएगी.

क्रेडिट लिमिट का रखें ध्यान

Cash

अगर आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट 1 लाख रुपये है. और आपने 95000 रुपये की शॉपिंग कर ली है तो इससे सीधा यह पता चलता है कि आपके पास कैश की काफी कमी है.

यह आपकी क्रेडिट रिपोर्ट के लिए बिल्कुल अच्छी बात नहीं है. आपके पास क्रेडिट कार्ड है इसका यह मतलब कतई नहीं है कि आप उसे हर वक्त स्वाइप करते रहें.

बेकार के बैंक एकाउंट बंद करें

जिन बैंक खातों में लेनदेन नहीं कर रहे हैं उन्हें बंद करना ही सही है.

जितने निष्क्रिय अकाउंट और क्रेडिट कार्ड हैं उनका बकाया चुकाकर बंद कर देना चाहिए. आपके क्रेडिट रिपोर्ट की हेल्थ के लिए यह बहुत जरूरी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi