S M L

रूस के सुपरमैन हैं पुतिन, लोग उन्हें ऐसे ही जेम्स बॉन्ड नहीं मानते हैं    

पुतिन कहीं किवदंती बन चुके हैं तो कहीं मिथ तो कहीं रहस्य लेकिन दुनिया के शक्तिशाली देश की सबसे शक्तिशाली शख्सियत वो ही हैं

Updated On: Oct 07, 2017 10:19 AM IST

Kinshuk Praval Kinshuk Praval

0
रूस के सुपरमैन हैं पुतिन, लोग उन्हें ऐसे ही जेम्स बॉन्ड नहीं मानते हैं    

आखिर कैसे ये मुमकिन है कि एक शख्स न सिर्फ दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों में शुमार करता है बल्कि दुनिया के सबसे अमीर लोगों में भी वो शामिल है और वो दुनिया के ताकतवर देश का राष्ट्रपति भी है. किस्मत किसी पर अगर मेहरबान हो तो फिर वो शख्स ब्लादिमीर पुतिन कहलाता है. रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन कभी स्टंटमैन तो कभी सुपरमैन की तरह दिखाई देते हैं. रूस की जनता के लिये ब्लादिमीर पुतिन जेम्स बॉन्ड हैं.

हॉलीवुड की किसी एक्शन फिल्म के हीरो की तरह वो घुड़सवारी करते, रिंग में मार्शल आर्ट की फाइट करते, आइस हॉकी खेलते, फाइटर प्लेन उड़ाते, भारी-भरकम बाइक चलाते , हाथ में राइफल थामे जंगलों में घूमते , पैराग्लाइडिंग करते दिखाई देते हैं. पुतिन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर ट्रेंड करती हैं लोग उनके अलग-अलग अंदाज सर्च करते हैं.

सियासत की नजर से पुतिन एक ऐसे कामयाब नेता हैं जो एक ही देश में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री बने हैं तो दूसरी तरफ वो ऐसी शख्सियत हैं जिसने अपनी छवि दुनिया के दूसरे नेताओं से एकदम अलग गढ़ी है.

ब्लादिमीर पुतिन का फिल्मी अंदाज

अमूमन किसी देश के राष्ट्रपति की तस्वीर की जब कल्पना की जाती है तो उसका चेहरा राजनीतिक अनुभव से सख्त और वक्त की लकीरों से खिंचा हुआ नजर आता है. एक उम्रदराज शख्सियत की छवि दिमाग में आती है. सफेद बालों और झुके हुए कंधों के बीच ढला हुआ जिस्म आंखों पर काला मोटा चश्मा चढ़ाए देश-दुनिया की बात करता दिखाई देता है. लेकिन रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने ग्लोबल लीडर्स की छवि को भी फिल्मी अंदाज दे डाला है.

यह भी पढ़ें: आतंकी संगठन है आईएसआई, फिर पाक को आतंकी देश घोषित करने में देर किस बात की?

पुतिन ब्लैक बेल्ट हैं और जूडो चैम्पियन रह चुके हैं. उनके कसरती बदन पर उम्र कभी हावी नहीं हो सकी और उनकी उम्र मुहब्बत और रोमांस को कभी पीछे छोड़ नहीं सकी. 62 साल की उम्र में उन्हें अपनी उम्र से आधी उम्र यानी 31 साल की जिमनास्ट एलीना से प्यार हुआ.

Russian President Vladimir Putin holds a fish he caught during the hunting and fishing trip which took place on August 1-3 in the republic of Tyva in southern Siberia, Russia, in this photo released by the Kremlin on August 5, 2017. Sputnik/Alexei Nikolsky/Kremlin via REUTERS ATTENTION EDITORS - THIS IMAGE WAS PROVIDED BY A THIRD PARTY. - RC1BDB9E12B0

रूस के राष्ट्रपति पुतिन का हर रंग किसी को भी अचरज से भर सकता है तो उनका व्यक्तित्व किसी को भी प्रभावित कर सकता है. उन्होंने बढ़ती उम्र को खुद पर हावी होने नहीं दिया तो खुद को फिट रखने के लिए वह जिम में घंटों पसीना बहाते हैं.

सोशल मीडिया पर पुतिन की दीवानगी ने उन्हें ‘अमर’ तक बना दिया. साल 1920 और 1940 की दो तस्वीरों के साथ पुतिन की तस्वीर को पोस्ट किया गया. ये दोनों तस्वीरें रूसी सैनिक की थीं जिनका चेहरा पुतिन से मिलता जुलता था. उस तस्वीर को जरिए ये पुतिन के फैन्स ने ये दावा किया कि पुतिन पहले और दूसरे वर्ल्डवॉर के समय के रूस की सेना के साथ जुड़े हुए हैं.

कहीं मिथ तो कहीं रहस्य

हद तो ये हो गई जब पुतिन के चेहरे को लियोनार्डी दा विंसी की मशहूर पेंटिंग मोनालिसा के चेहरे से मिला दिया. पुतिन की मुस्कान को मोनालिसा की रहस्यमयी मुस्कान बताया गया. पुतिन कहीं किंवदंती बन चुके हैं तो कहीं मिथ तो कहीं रहस्य लेकिन दुनिया के शक्तिशाली देश की सबसे शक्तिशाली शख्सियत वो ही हैं.

पुतिन की दौलत भी दुनिया के लिये बड़ा रहस्य है. लोग उनकी दौलत का अंदाजा लगाते रहते हैं हालांकि कहा जाता है कि उनके पास 46 अरब डॉलर की संपत्ति है. तो कुछ लोग उनके पास दो सौ अरब डॉलर तक की संपत्ति होना का भी अंदाजा लगाते हैं.

यह भी पढ़ें: ‘फैटमेन’ और ‘लिटिल बॉय’ से नहीं डरेगा नॉर्थ कोरिया, ‘फादर ऑफ ऑल बम’ बन गया है ‘रॉकेट मैन’

दरअसल पुतिन का जिंदगी जीने का शाही अंदाज और महंगे कीमती शौक ही उनकी खरबों रुपये की संपत्ति की गवाही देता है. कहा जाता है कि दुनिया के नामचीन देशों में पुतिन के पास तकरीबन 20 बंगले हैं तो कई महल हैं. उनके पास महंगे 4 याट्स हैं, 58 विमान हैं, 700 अल्ट्रा लग्जरी कारें हैं.

President Putin

हालांकि पुतिन की निजी संपत्ति के बारे में कभी कोई खुलासा नहीं हुआ है इस वजह से उनकी संपत्ति को लेकर अटकलें लगती रहती हैं. आज भले ही पुतिन शाही जिंदगी जीते हैं लेकिन उनका बचपन बेहद गरीबी में बिता है. पुतिन का जन्म 7 अक्टूबर 1952 में सेंट पीटर्सबर्ग में हुआ था. सत्तर के दशक में पुतिन सोवियत संघ की खुफिया एजेंसी केजीबी में शामिल हो गए थे और उन्होंने पूर्वी जर्मनी में लंबा वक्त बिताया. पुतिन धारा प्रवाह जर्मनी भाषा बोल लेते हैं लेकिन अंग्रेजी बोलने में उन्हें घबराहट होती है.

रूस में पुतिन किसी कॉमिक के सुपरहीरो से कम नहीं हैं इसी वजह से 'सुपर पुतिन' नाम से एक ऑनलाइन कॉमिक सीरीज भी शुरू की गई जिसमें पुतिन को सुपर हीरो की तरह आंतकवादियों से लड़ता दिखाया जाता है.

आज दुनिया में अमेरिकी हुकूमत को अगर कोई एक शख्स आंखों में आंखें डालकर चुनौती देने का काम करता है तो वो शख्स हैं ब्लादिमीर पुतिन.

अपनी दोस्ती निभाने के लिए ही पुतिन ने सीरियाई राष्ट्रपति असद की मदद के लिये अमेरिकी दुश्मनी की परवाह नहीं की. आज दुनिया के ताकतवर नेताओं में पुतिन की अहमियत सिर्फ इतने भर से समझी जा सकती है कि वो रूस में पिछले 17 साल से सत्ता पर बरकरार हैं और उन्हें हटाने की विपक्ष की कोशिशें नाकाम होती रही हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi