Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

'ब्रह्मचारी' मोर हुआ वायरल, ट्विटर ने जमकर बहाए 'आंसू'

लोगों ने कहा, 'हमें तो हमारी न्यायपालिका की हालत पर रोना आ रहा है'

FP Staff Updated On: Jun 01, 2017 06:12 PM IST

0
'ब्रह्मचारी' मोर हुआ वायरल, ट्विटर ने जमकर बहाए 'आंसू'

राजस्थान हाईकोर्ट के जज महेशचंद्र शर्मा ने एक अजीबोगरीब टिप्पणी करते हुए कहा, 'मोर राष्ट्रीय पक्षी इसलिए है क्योंकि वह सेक्स नहीं करते, वह आजीवन ब्रह्मचारी रहते हैं.’ बस इसके बाद तो सोशल मीडिया साइट्स पर हंगामा हो गया.

दरअसल, राजस्थान हाईकोर्ट के जज महेशचंद्र शर्मा ने पहले भी सुझाव दिया था कि गाय को भारत के राष्ट्रीय पशु का दर्जा दे दिया जाना चाहिए. अब अपने इसी सुझाव पर तर्क देते हुए उन्होंने गाय की तुलना 'मोर' से की, और दोनों प्राणियों की प्रजाति को 'पवित्र' बताया.

मोर की पवित्रता का जज साहब ने कुछ यूं तर्क दिया है, ‘मोर आजीवन ब्रह्मचारी रहता है. वह कभी मोरनी के साथ सेक्स नहीं करता. मोर के आंसुओं को पीने से मोरनी गर्भवती होती है.'

इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों उनके इस बयान पर जमकर प्रतिक्रिया दी.

एक ट्विटर यूजर ने तो ब्रह्मचारी पीकॉक के नाम से प्रोफाइल भी बना डाली और शर्मा जी के तर्क का सबूत दे भी डाला.

@Kirti_Sinha23- नाम की यूजर ने तो बायोलॉजी को ही अंतिम विदाई दे दी.

@biditabag- ने ट्वीट किया है-

@FuschiaScribe- ने जॉनसंस बेबी शैम्पू की तस्वीर शेयर की है क्योंकि उसकी टैगलाइन है- 'नो मोर टियर्स'

@sangeetasanghvi- ने ट्वीट किया है किया कि गूगल कंफ्यूज है इन दोनों में से किसे पहला पुरस्कार दिया जाना चाहिए. दरअसल अभी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कुछ ऐसा ही कमाल का ट्वीट किया था जिसके बाद ट्विटर उनके ट्वीट पर कई सारे मीम्स बनाए गए.

@DOCTORATLARGE- ने लिखा जस्टिस शर्मा की बातें सुनकर मुझे तो न्यायपालिका पर रोना आ रहा है.

वैसे गाय को राष्ट्रीय पशु बनाने के पीछे भी राजस्थान सरकार के शिक्षामंत्री का एक इतना ही हास्यास्पद बयान आया था.

वासुदेव देवनानी ने कहा था कि गाय ही एक मात्र ऐसा जानवर है जो 'सांस लेने के दौरान ऑक्सीजन लेती है और ऑक्सीजन ही बाहर निकालती है.'

उन्होंने यह भी कहा था कि लोगों को इसका वैज्ञानिक महत्व समझने की जरूरत है. जबकि उनकी ऐसी बातें तो विज्ञान को ही चुनौती देती नजर आ रही थी.

खैर गाय का पर्यावरण में योगदान और मोर का ब्रह्मचर्य पालन तो पता नहीं पर जज साहब ने अपनी सेवा के आखिरी दिन को ऐतिहासिक बनाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi