S M L

'कॉमन वूमन' के साथ लौटेगा आर के लक्ष्मण का 'कॉमन मैन'

'आम आदमी’ की विरासत को आगे बढ़ाएंगी आर के लक्ष्मण की पोती रिमनिका

Nidhi Nidhi Updated On: May 06, 2017 01:06 PM IST

0
'कॉमन वूमन' के साथ लौटेगा आर के लक्ष्मण का 'कॉमन मैन'

धोती-कोट पहने, सर से आधे उड़े हुए बाल और गोल-गोल चश्मे वाला 'कॉमन मैन' किसे याद नहीं होगा. आर के लक्ष्मण के ‘कॉमन मैन’ के सीरिज से अपने दिन की शुरुआत करने वाले लोगों के लिए उनका प्रतीकात्मक कार्टून कैरेक्टर ‘आम आदमी’ अब ‘नया आम आदमी’ और ‘आम महिला’ के नाम से आने वाला है.

आर के लक्ष्मण के ‘कॉमन मैन’ की इस विरासत को बरकरार रखा है उनकी पोती रिमनिका लक्ष्मण ने.

ये खबर आर के लक्ष्मण की बहू उषा लक्ष्मण ने 5 मई ‘वर्ल्ड कार्टूनिस्ट डे’ के अवसर पर सभी कार्टून प्रेमियों के लिए अपने फेसबुक वाल पर पोस्ट के साथ शेयर की है.

उषा लक्ष्मण ने आईपीआर मैनेजमेंट कंपनी की तरफ से फेसबुक पर इसे शेयर करते हुए लिखा है कि ‘वर्ल्ड कार्टूनिस्ट डे’ सुनहरे दिन पर हमें ये बताते हुए बड़ी खुशी हो रही है कि हम आपके लिए ‘नया कॉमन मैन’ की सीरिज ला रहे हैं. और इस सीरिज की खास बात ये होगी कि अब इसमें उनके साथ ही उनकी ग्रैंडडॉटर ‘कॉमन वूमन’ भी होंगी.

common man

उन्होंने लिखा है, ‘रिमनिका आम आदमी की संकल्पना पर काम करने के लिए काफी खुश हैं, उसने अपना कॉन्सेप्ट अपने दादाजी के साथ भी शेयर किया था और वे इसे आगे बढ़ाने को लेकर प्रेरित करते थे. वो 'आम महिला' की भूमिका पर भी खूब मेहनत से काम कर रही है.’

साथ ही उन्होंने लिखा है, ‘रिमनिका के दिमाग में ‘आम आदमी’ की पोती का विचार है जो इसी तरह की स्थितियों को देख रही है और उनका सामना कर रही है. यह न सिर्फ महिलाओं की समस्याओं से जुड़ी हुई है बल्कि आम समस्या से भी रू-ब-रू है.

उषा लक्ष्मण ने लिखा है, 'रिमनिका की पूरी कोशिश है कि ह्यूमर के साथ समाज को पुरुष और महिला की समानता का मैसेज दिया जाए.'

उन्होंने आईपीआर मैनेजमेंट के बारे में बताया है कि इस टीम में वो लोग हैं जिन्होंने खुद आर के लक्ष्मण के साथ काम किया है, उनसे सिखा है. ये लोग आर के लक्ष्मण के दिलचस्प पंचलाइन और बेहतरीन ह्यूमर वाले कॉन्सेप्ट के साथ काम करना चाहते हैं.

साभार: टाइम्स ऑफ इंडिया

साभार: टाइम्स ऑफ इंडिया

ये सारे कार्टून्स सोशल, पॉलिटिकल जैसे हर तरह के  विषय पर हो सकते हैं. जो सभी उम्र के लोगों के लिए एक मजबूत मैसेज देने का काम करेगा. खासकर युवाओं के लिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi