S M L

रिहाना ने आपत्तिजनक ऐड पर स्नैपचैट को लताड़ा, कंपनी को 150 करोड़ का नुकसान

ऐप पर एक स्मार्टफोन गेम 'Would You Rather' के एडवर्टीजमेंट में यूजर्स से पूछा जा रहा था कि वो रिहाना को थप्पड़ मारना चाहेंगे या क्रिस ब्राउन को घूंसा मारना चाहेंगे

FP Staff Updated On: Mar 16, 2018 05:20 PM IST

0
रिहाना ने आपत्तिजनक ऐड पर स्नैपचैट को लताड़ा, कंपनी को 150 करोड़ का नुकसान

अभी कुछ दिनों पहले ही पॉपुलर अमेरिकन मॉडल काइली जेनर ने स्नैपचैट का मार्केट डाउन कर दिया था और अब ऐसा ही कुछ सिंगर रिहाना ने भी किया है. रिहाना ने एक अपमानजनक ऐड को लेकर आलोचना की, जिससे कंपनी की मार्केट वैल्यू में 1.5 बिलियन का नुकसान हो गया.

दरअसल, रिहाना ने ऐप की ओर से चलाए गए ऐप पर आपत्ति जताई थी, जिसमें कंपनी ने इनडायरेक्टली 2009 में रिहाना के साथ उनके उस वक्त के बॉयफ्रेंड सिंगर क्रिस ब्राउन की ओर से की गई घरेलू हिंसा का संदर्भ लिया था. उस वक्त क्रिस ब्राउन ने रिहाना के साथ बुरी तरह मारा था, काटा था, गला दबाया था और जान से मारने की धमकी दी थी. रिहाना को अस्पताल जाना पड़ा था.

ऐप पर एक स्मार्टफोन गेम 'Would You Rather' का एडवर्टीजमेंट चल रहा था, जिसमें यूजर्स से पूछा जा रहा था कि वो नीचे दी गई चीजों में क्या चुनेंगे. इसी क्रम में एक सवाल पूछा गया कि वो रिहाना को थप्पड़ मारना चाहेंगे या क्रिस ब्राउन को घूंसा मारना चाहेंगे.

इस ऐड पर कंपनी की आलोचना करते हुए रिहाना ने इंस्टाग्राम पर लिखा, 'स्नैपचैट मुझे पता है कि तुम ये जानते हो कि तुम मेरे फेवरेट ऐप नहीं हो. लेकिन मैं ये समझने कि कोशिश कर रही हूं कि ऐसा करने के पीछे क्या पॉइंट था. मैं इसे तुम्हारी बेखबरी समझना चाहती हूं लेकिन मैं जानती हूं कि तुम इतने बेवकूफ नहीं हो. तुमने किसी ऐसी चीज को बनाने के लिए पैसे खर्च किए, जो तुरंत घरेलू हिंसा के शिकार लोगों का मजाक उड़ाता है. ये मेरी निजी भावनाओं के बारे में नहीं है क्योंकि मेरे पास उतनी निजी भावनाएं हैं ही नहीं. लेकिन वो औरतें, बच्चे और आदमी, जो कभी घरेलू हिंसा का शिकार हुए हैं और अभी भी हो रहे हैं, उनका अपमान है. तुम्हें शर्म आनी चाहिए. अपनी एप-लॉजी उठाकर फेंक दो.'

रिहाना के इस कमेंट के बाद सोशल मीडिया पर कंपनी की आलोचना होने लगी. यहां तक कि रिहाना के साथ पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की बेटी चेल्सी क्लिंटन भी खड़ी हो गईं. उन्होंने कहा कि कंपनी का ये कदम शर्मनाक और दुखद है.

इसके बाद कंपनी ने माफी मांग ली. कंपनी ने बीबीसी के साथ एक इंटरव्यू में कहा, 'हमने गलती से इस ऐप को रिव्यू के बाद अप्रूव कर दिया था. ये हमारी गाइडलाइंस का उल्लंघन करता है. हमने जानकारी मिलते ही पिछले हफ्ते ऐड को हटा दिया था. हमें दुख है कि ऐसा कुछ हुआ.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi