S M L

हुमायूं-बाबर पर बोलकर ट्रोल हुए राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष, लोगों ने लिए मजे

सबसे पहले तो उन्हें शायद मालूम नहीं है कि हुमायूं, बाबर का पिता नहीं बेटा था, इतना ही नहीं बाबर की मौत हुमायूं से 25 साल पहले हो गई थी

Updated On: Jul 26, 2018 09:46 PM IST

FP Staff

0
हुमायूं-बाबर पर बोलकर ट्रोल हुए राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष, लोगों ने लिए मजे

बीजेपी नेताओं को इतिहास के तथ्यों से खिलवाड़ करने की आदत सी हो गई है. तभी तो कोई न कोई नेता ऐसा बयान दे जाता है जिस पर बखेड़ा खड़ा हो जाता है. केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने चार्ल्स डार्विन के सिद्धांत को गलत बता दिया. त्रिपुरा के सीएम बिप्‍लब देब ने महाभारत काल में इंटरनेट और सेटेलाइट होने का दावा किया. और अब इतिहास के नए तथ्य को सामने ला रहे हैं राज्यसभा सदस्य और राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष मदनलाल सैनी.

सैनी के मुताबिक हुमायूं और बाबर के बीच भी गाय को लेकर चर्चा हुई थी और हुमायूं ने बाबर को गाय का सम्मान करने की बात कही थी. बीजेपी अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि मुझे याद आता है. जब हुमायूं मर रहा था, उस समय उसने बाबर को बुलाकर कहा अगर तुमको हिंदुस्तान में शासन करना है तो तीन चीजों का ध्यान रखना, एक गाय, दूसरा ब्राह्मण और फिर महिला, इनका अपमान नहीं होना चाहिए, हिंदुस्तान इनको सहन नहीं करता है.

सैनी ने बड़े आराम से इतिहास के पन्नों को पलट कर आम लोगों को नई कहानी बता दी. लेकिन वो भूल गए कि वो जो कुछ भी कह रहे हैं वो सबकुछ मनगढ़ंत है.

बीजेपी अध्यक्ष का ये 'ज्ञान' हास्यास्पद है. सबसे पहले तो उन्हें शायद मालूम नहीं है कि हुमायूं, बाबर का पिता नहीं बेटा था. इतना ही नहीं बाबर की मौत हुमायूं के मरने से 25 साल पहले हो गई थी. बाबर की मौत 1531 में हुई जबकि उनके बेटे हुमायूं ने आखिरी सांस 1556 में ली.

भारत में मुगल साम्राज्य की स्थापना बाबर ने की थी. बाबर का पूरा नाम ज़हिर उद-दिन मुहम्मद बाबर था. बाबर के चार बेटे थे. हुमायूं, कामरान, अस्करी और हिन्दाल. इनमें हुमायूं सबसे बड़े थे. बाबर की मौत 1530 में हुई थी, जबकि हुमायूं की 1556 में.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi