S M L

Patiala Babes : शो के सेट पर क्यों फूट फूट कर रोने लगी परिधि शर्मा?

आने वाले एपिसोड में तलाक वाले सीन को शूट करते हुए बेहतरीन अदाकारा परिधि सबके सामने रोने लगीं

Updated On: Feb 07, 2019 03:08 PM IST

Rajni Ashish

0
Patiala Babes : शो के सेट पर क्यों फूट फूट कर रोने लगी परिधि शर्मा?

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के नए शो ‘पटियाला बेब्स’ में बबिता की भूमिका में पॉपुलर टीवी एक्ट्रेस परिधि शर्मा की अदाकारी को दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं।निभा रही हैं। अशनूर कौर और परिधि की मां बेटी की जोड़ी धीरे धीरे दर्शकों के दिलों पर अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो रही हैं।आपको बता दें कि ‘पटियाला बेब्स’ मां-बेटी के रिश्ते के इर्द-गिर्द घूमता है और कैसे एक बेटी अपनी मां के सपनों को ‘पंख’ देती है और विश्वास की छलांग लगाने में मदद करती है और उसे ‘बेब्स’ में बदल देती है।

मुख्य पात्र परिधि अपने परदे पर निभाए गए किरदार से बिलकुल अलग हैं और आने वाले एपिसोड की शूटिंग के दौरान परिधि के साथ कुछ ऐसा हुआ कि वो सेट पर इमोशनल हो गई। दरअसल मौजूदा ट्रैक में बबिता अपने जीवन के सबसे कठिन दौर से गुजर रही है जहां उसे अपने पति को तलाक देने का फैसला लेना है जिसमें उसकी बेटी मिनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हुई नजर आ रही है।मिनी बबिता को ये समझाती नजर आती है कि तलाक का मतलब उसकी दुनिया का खत्म होना नहीं है बल्कि ये तो उसकी जीवन के नए अध्याय की शुरुआत है।वहीं आने वाले एपिसोड में तलाक वाले सीन को शूट करते हुए बेहतरीन अदाकारा परिधि सबके सामने रोने लगीं। ये देखकर सेट पर मौजूद सभी लोग हैरान रह गए सबको लगा कि इंटेंस सीन की वजह से परिधि दुखी हो गई हैं। लेकिन परिधि ने बाद में खुलासा किया कि इस सीन को शूट करते वक्त एक महिला के तौर पर उन्हें काफी गर्व हुआ।

परिधि ने इस बारे में बात करते हुए बताया-"मैं एक खुशहाल शादी शुदा जीवन जी रही हूं और मेरे परिवार या दोस्तों में ऐसा कोई नहीं है जो तलाक से गुजरा हो। इसलिए, तलाक वाले सीन को ऑन-स्क्रीन करने के लिए भावनाओं को समझना चुनौतीपूर्ण था। लेकिन मेरे निर्देशक ने मुझे बबीता की भावनाओं को समझाया और यह भी बताया कि आखिरकार वह एक मजबूत और स्वतंत्र महिला के रूप में कैसे उभर पाएगी। ट्रैक की शूटिंग के दौरान मैं इतना अभिभूत हो गई, कि जब शॉट ओके हुआ, तो मैं अपने आप को नियंत्रित नहीं कर सकी और सेट पर इमोशनल हो गई। मैं दुखी महसूस नहीं कर रही थी, बल्कि मैं भीतर से बहुत मजबूत महसूस कर रहा थी और महसूस किया कि हर महिला के पास अपने भाग्य को फिर से लिखने और किसी पर निर्भर न रहने की शक्ति है।

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi