S M L

'वॉट्सऐप के आदिवासियों' के लिए मुंबई पुलिस का संदेश- फॉरवर्ड से बैकवर्ड मत बनिए

हैंडल ने वॉट्सऐप के जरिए फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए एक बहुत ही बेहतरीन तरीके से संदेश दिया है

FP Staff Updated On: Jul 24, 2018 04:28 PM IST

0
'वॉट्सऐप के आदिवासियों' के लिए मुंबई पुलिस का संदेश- फॉरवर्ड से बैकवर्ड मत बनिए

मुंबई पुलिस का ट्विटर हैंडल ट्विटर पर अपनी अलग जगह रखता है. इसकी वजह हैं उसके ट्वीट्स. लोगों को जागरूक करने के लिए मजेदार ट्वीट्स का इस्तेमाल करने वाले इस हैंडल ने कई एपिक ट्वीट किए हैं. लेकिन इस बार हैंडल ने वॉट्सऐप के जरिए फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए एक बहुत ही बेहतरीन तरीके से संदेश दिया है. वॉट्सऐप पर कुछ भी फॉरवर्ड करने के लिए इससे बेहतर सबक कुछ नहीं हो सकता.

एक फेक न्यूज या अफवाह के चलते यहां लोगों की जान चली जा रही है. ऐसे में लोगों को खुद समझना होगा कि वो अपने स्तर पर इन घटनाओं को रोकने में कितनी भूमिका निभा रहे हैं. और मुंबई पुलिस के इस मैसेज में यही संदेश दिया गया है. कहीं आप भी तो एक फॉरवर्ड करने के चक्कर में बैकवर्ड नहीं बन रहे हैं.

इस ट्वीट में हैंडल ने एक आदिवासी को लैपटॉप और मोबाइल का इस्तेमाल करते हुए दिखाया है और इसमें लिखा है कि 'मानवता इतनी दूर बस इसी के लिए चलकर नहीं आई है. एक फॉरवर्ड देश को कई सदियों पीछे ले जा सकता है.'

इस फोटो में कितना बड़ा संदेश छिपा है. लोग फेक न्यूज और नफरत के चलते अंधे हो रहे हैं और आगे बढ़ने की बजाय समाज को पीछे ले जा रहे हैं.

लोगों को मुंबई पुलिस का ये तरीका काफी पसंद आया है. उन्होंने हमेशा की तरह इसकी तारीफ की है.

बता दें कि वॉट्सऐप भी फॉरवर्ड किए जाने वाले मैसेजों पर लिमिट लगाने का फीचर लेकर आ रहा है. इस फीचर में यूजर एक मैसेज को पांच बार से ज्यादा फॉरवर्ड नहीं कर पाएंगे. इसके अलावा फॉरवर्ड किए जाने वाले मैसेज पर फॉरवर्डेड का लेबल लगा होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi