S M L

'जूतों के डॉक्टर' की क्रिएटिविटी के दीवाने महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन, गिफ्ट की दुकान

दरअसल एक मोची ने अपनी एक छोटी सी दुकान पर 'जख्मी जूतों का अस्पताल' पोस्टर लगा रहा था. उसकी इस क्रिएटिविटी से महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा खासे प्रभावित हुए थे

FP Staff Updated On: Aug 02, 2018 06:38 PM IST

0
'जूतों के डॉक्टर' की क्रिएटिविटी के दीवाने महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन, गिफ्ट की दुकान

हाल ही में ट्विटर पर एक तस्वीर खूब वायरल हुई थी. इस पर लिखा हुआ था 'जख्मी जूतों का अस्पताल'. दरअसल एक मोची ने अपनी एक छोटी सी दुकान पर 'जख्मी जूतों का अस्पताल' पोस्टर लगा रहा था. उसकी इस क्रिएटिविटी से महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा खासे प्रभावित हुए थे और अप्रैल में उन्होंने ये तस्वीर शेयर की थी. उनके शेयर करते ही ये पोस्ट वायरल हो गया था.

आनंद महिंद्रा ने कहा था कि मुझे ये फोटो व्हाट्सएप पर मिली. मैं नहीं जानता ये शख्स कहां है. इस शख्स को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट में टीचर होना चाहिए. उन्होंने कहा था कि मैं इस शख्स के स्टार्टअप में निवेश भी करना चाहता हूं.

काफी समय तक खोजे जाने के बाद आखिरकार आनंद महिंद्रा की टीम ने इस शख्स को खोज निकाला है. इस शख्स का नाम नरसीराम है. नरसीराम महिंद्रा की टीम को हरियाणा के जींद में जाकर मिले. महिंद्रा ने उसको मदद देने का अपना वादा पूरा कर दिया है. आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा है कि आप सभी को 'जख्मी जूतों का अस्पताल' वाला इनोवेटिव मोची याद है? हमारी टीम ने उससे मुलाकात कर बताया कि मैं निवेश करना चाहता हूं. उसने कहा कि उसे छोटी सी जगह चाहिए. हमने उसके लिए एक कियोस्क (चलती-फिरती दुकान) बनाया है. जल्द ही ये उसे दे दी जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi