S M L

दुनिया को पीएच स्केल देने वाले के नाम है आज का गूगल डूडल

गूगल ने 29 मई का डूडल दुनिया को पीएच स्केल देने वाले महान वैज्ञानिक एस पी एल सॉरेन्सन की याद में बनाया है

Updated On: May 29, 2018 03:22 PM IST

FP Staff

0
दुनिया को पीएच स्केल देने वाले के नाम है आज का गूगल डूडल

गूगल ने आज यानी 29 मई का डूडल दुनिया को पीएच स्केल देने वाले महान वैज्ञानिक एस पी एल सॉरेन्सन की याद में बनाया है. 9 जनवरी को डेनमार्क के हॉवरेबर्ग में पैदा होने वाले सॉरेन पेडर लॉरिट्ज सॉरेन्सन विज्ञान जगत खासकर रसायन विज्ञान में बहुत बड़ा नाम हैं. उन्होंने रसायन विज्ञान में उपयोग की जाने वाली पीएच स्केल की महत्वपूर्ण खोज की थी. दुनिया को यह महत्वपूर्ण पीएच स्केल देने वाले वैज्ञानिक सॉरेन्सन की 12 फरवरी 1939 को मौत हो गई थी.

क्या होती है पीएच स्केल?

पीएच स्केल वह वैश्विक मापक होता है जिससे पदार्थ की अम्लीय (एसिडिटी) मात्रा को मापा जाता है. दरअसल पदार्थ तीन तरह के होते हैं अम्लीय (एसिडिक), क्षारीय (एल्केलाइन) और न्यूट्रल. इनको मापने का वैश्विक मापक होता है पीएच स्केल. इस स्केल पर 0 से 14 तक की वैल्यू होती है. अगर किसी पदार्थ की वैल्यू 6 या उस से कम हो तो वह एसिडिक होता है. वहीं किसी पदार्थ की वैल्यू अगर 8 या उससे ज्यादा होती है तो वह एल्केलाइन कहलाता है. इस मापक पर किसी पदार्थ की वैल्यू 7 होने पर वह न्यूट्रल पदार्थ माना जाता है.

क्या है पदार्थ की एसिडिटी समझने का आम तरीका

एसिडिक पदार्थों का स्वाद खट्टा होता है और एल्केलाइन पदार्थ स्वाद में कड़वे होते हैं. नींबू, टमाटर आदि स्वाद में खट्टे होते हैं और इनकी वैल्यू पीएच स्केल पर 6 से कम होती है इस कारण यह एसिडिक कहलाते हैं वहीं अंडे की वैल्यू 8 से ज्यादा होने के कारण यह एल्केलाइन पदार्थों में आता है. वहीं पीएच स्केल पर पानी की वैल्यू 7 होती है और इसलिए यह न्यूट्रल पदार्थ कहलाता है.

अलग-अलग पदार्थों को बिना चखे उसकी एसिडिटी जानने वाली इसी पीएच स्केल पर आधारित है आज यानी 29 मई का गूगल डूडल. अगर आज के डूडल पर आप क्लिक करेंगे तो एक स्केल दिखेगी जिस पर एनिमेशन के जरिए कई पदार्थों की पीएच वैल्यू पूछी जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi