S M L

पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए लड़ने वाली लेखिका महाश्वेता देवी पर गूगल डूडल

वैसे तो महाश्वेता देवी मूल रूप से बंगाल की लेखिका थी पर अपनी लेखनी और सामाजिक कार्यों के जरिए उन्होंने दुनियाभर में नाम कमाया.

FP Staff Updated On: Jan 14, 2018 01:43 PM IST

0
पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए लड़ने वाली लेखिका महाश्वेता देवी पर गूगल डूडल

आज यानी 14 जनवरी को सामाजिक कार्यकर्ता और भारत की प्रसिद्ध लेखिका महाश्वेता देवी का 92वा जन्मदिन है. इस मौके पर गूगल ने एक बहुत ही कलात्मक डूडल बनाकर उनको श्रद्धांजलि दी है. गूगल के इस डूडल में महाश्वेता देवी को एक किताब लिखते हुए दिखाया गया है. साथ ही उनके चारों तरफ महिला, दलित, आदिवासी जैसे लोगों की तस्वीर बनाई गई है. इस डूडल के जरिए गूगल ने उनके द्वारा किए गए कार्यों को दिखाने की कोशिश की है.

कौन थी महाश्वेता देवी

आज ही के दिन 1926 में ढाका में जन्मी महाश्वेता ने अपना सारा जीवन पिछड़े वर्ग के लोगों के हक के लिए लड़ने में लगा दिया. वैसे तो महाश्वेता देवी मूल रूप से बंगाल की लेखिका थी पर अपनी लेखनी और सामाजिक कार्यों के जरिए उन्होंने दुनियाभर में नाम कमाया.

1943 में जब अकाल पड़ा तब भी उन्होंने राहत कार्य में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया. महाश्वेता देवी ने अपने जीनव में 100 से ज्यादा किताबें लिखीं हैंउनकी सबसे पहली किताब झांसी की रानी थी जो 1956 में आई. इसके बाद उन्होंने एक के बाद एक कई किताबें लिखीं जिनके लिए उन्हें खूब सराहा गया. महाश्वेता देवी को उनकी लेखनी के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित भी किया जा चुका है. इसके इलावा उन्हें रमन मैगसेसे, साहित्य अकादमी, और ज्ञानपीठ पुरस्का से भी नवाजा जा चुका है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi