S M L

गूगल डूडल: एक किताब किसी पुरुष का अच्छा विकल्प बताने वाले मार्खेज

नहीं मैं अमीर आदमी नहीं हूं. मैं गरीब आदमी हूं जिसके पास पैसा है

FP Staff Updated On: Mar 06, 2018 02:56 PM IST

0
गूगल डूडल: एक किताब किसी पुरुष का अच्छा विकल्प बताने वाले मार्खेज

गैब्रियल गार्सिया मार्खेज़ दुनिया भर में सबसे चर्चित लेखकों में से एक है. पत्रकार रहे मार्खेज़ ने लेखन के लिए नोबेल पुरस्कार जीता. 6 मार्च 1927 को पैदा हुए मार्खेज़ ने वन हंड्रेड इयर ऑफ सॉलिट्यूड, लव इन द टाइम ऑफ कॉलेरा और द ऑटम ऑफ पैट्रियार्क जैसी कई कालजई किताबें लिखीं. 1982 में मार्खेज को साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया. उनकी कहानियों पर कई फिल्में बन चुकी हैं. मार्खेज ने पत्रकार बनने के लिए अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ दिया था और इस तरह उन्होंने लेखन के क्षेत्र में कदम रखा. फिदेल कास्त्रो मार्खेज के अच्छे दोस्त थे.

GOOGLE DOODLE Gabriel García Márquez (1)

जादुई यथार्थ की कहानियां कहने वाले मार्खेज ने अपनी किताबों को लिखने में बहुत संघर्ष करना पड़ा. एक समय पर उनकी पत्नी की सैलरी से घर का खर्च चलता था. हालत यहां तक पहुंची थी कि किताब की पांडुलिपि प्रकाशक को डाक से भेजने के लिए घर का सामान गिरवी रखना पड़ा था.

मार्खेज की कई प्रसिद्ध पंक्तियां लोग कोट करते हैं. इनमें से कई मार्खेज का नाम भी नहीं जानते.

एक किताब किसी पुरुष का अच्छा विकल्प है. फिक्शन हो तो बेहतर.

दिल अपनी याद से बुरी चीज़ें हटा देता है और अच्छी बातों को बढ़ा चढ़ा देता है.

लोग बूढ़े होने पर सपने देखना बंद नहीं कर देते. वो सपने देखना बंद कर देते हैं तो बूढ़े हो जाते हैं.

किसी के लिए आंसू मत बहाओ. जो इसके लायक होगा, तुम्हें कभी रोने नहीं देगा.

साहित्य और कुछ नहीं बढ़ईगिरी है. लेखक और बढ़ई दोनों वास्तव में काम करते हैं. और मैटीरियल लकड़ी की तरह सख्त होता है.

जिंदगी वो नहीं जो हम जीते हैं. जिंदगी वो है जो हमें याद रहती है. और इसी याद से हम किस्से सुनाते हैं.

शादी की एक ही समस्या है. ये हर रात प्रेम करने के साथ खत्म हो जाती है और सुबह नाश्ता करने से पहले वापस उग आती है.

नहीं मैं अमीर आदमी नहीं हूं. मैं गरीब आदमी हूं जिसके पास पैसा है. दोनों अलग-अलग बातें हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi