S M L

हंटरवाली नाडिया के जादू से बच नहीं पाया गूगल डूडल

भारतीय सिनेमा की पहली एक्शन हिरोइन फियरलेस नाडिया का 110वां जन्मदिन है. गूगल ने भी एक खूबसूरत डूडल के जरिए उन्हें याद किया है

Updated On: Jan 08, 2018 11:49 AM IST

FP Staff

0
हंटरवाली नाडिया के जादू से बच नहीं पाया गूगल डूडल

भारतीय सिनेमा की पहली एक्शन हिरोइन फियरलेस नाडिया का 110वां जन्मदिन है. गूगल ने भी एक खूबसूरत डूडल के जरिए उन्हें याद किया है.

बॉलीवुड की शुरुआती महिला-प्रधान फिल्मों की एक्शन हीरोइन नाडिया हंटरवाली नाम से मशहूर हैं. उनका जन्म साल 1908 में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में हुआ था. वो महज 5 साल की उम्र में भारत आ गई थीं. उन्होंने कई तरह की कलाओं में महारत हासिल की. जैसे- घुड़सवारी, शूटिंग, जिमनास्टिक्स , टैप डांसिंग, बैले, फिशिंग वगैरह. इसके बाद उन्होंने सर्कस में काम करना शुरू कर दिया, इससे उन्हें घूमने का मौका मिला.

उन्होंने अपना नाम मैरी से बदलकर नाडिया रख लिया. इस दौरान उनपर फिल्ममेकर-प्रोड्यूसर जमशेद बोमन होमी वाडिया की नजर पड़ी. वो नाडिया की मजबूत और दमदार पर्सनैलिटी से काफी प्रभावित हुए.

नाडिया ने होमी वाडिया से शादी कर ली. उनका फिल्मी करियर फीमेल एक्ट्रेस के लिए एक बदलाव लेकर आया. यहां भी उन्होंने एक्शन को ही चुना. उन्होंने कई फिल्मों अपनी जान जोखिम में डालकर स्टंट किए. चलती ट्रेन से कूदना, हेलिकॉप्टर से लटकी रस्सियों पर लटक जाना, शेरों से भिड़ने जैसे करतब वो खुद करती थीं. उनकी सबसे यादगार फिल्म है 1935 में आई हंटरवाली. इस फिल्म से ही उनकी फियरलेस नाडिया हंटरवाली की इमेज बनी.

Nadia-825

नाडिया ने नूर-ए-यमन और देश दीपक में भी काम किया. लेकिन उनकी हंटरवाली फिल्म सबसे ज्यादा यादगार है.

पिछले साल आई कंगना रानौत की फिल्म रंगून में उनके किरदार को नाडिया से प्रेरित कहा गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi