S M L

जगह-जगह यात्रा और जनसभाएं कर मोदी सरकार को घेरेगी युवा कांग्रेस, राहुल ने दी हरी झंडी

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव के मुताबिक, ‘युवा क्रांति यात्रा’ 16 दिसंबर को कन्याकुमारी से आरंभ होगी और कश्मीर होते हुए दिल्ली पहुंचेगी जहां 30 जनवरी को एक जनसभा के रूप में इसका समापन होगा

Updated On: Dec 09, 2018 02:18 PM IST

Bhasha

0
जगह-जगह यात्रा और जनसभाएं कर मोदी सरकार को घेरेगी युवा कांग्रेस, राहुल ने दी हरी झंडी

लोकसभा चुनाव से पहले युवाओं को नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर लामबंद करने के मकसद से कांग्रेस की युवा इकाई कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक ‘युवा क्रांति यात्रा’ निकालने और देश के विभिन्न हिस्सों में नौजवानों की ‘चौपाल’ लगाने की तैयारी में है. ‘भारतीय युवा कांग्रेस’ के इन कार्यक्रमों को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्वीकृति प्रदान की है.

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव के मुताबिक, ‘युवा क्रांति यात्रा’ 16 दिसंबर को कन्याकुमारी से आरंभ होगी और कश्मीर होते हुए दिल्ली पहुंचेगी जहां 30 जनवरी को एक जनसभा के रूप में इसका समापन होगा. इस जनसभा के लिए युवा कांग्रेस राहुल गांधी को भी आमंत्रित कर रही है.

यादव ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘नरेंद्र मोदी सरकार की नौजवान विरोधी, किसान विरोधी, महिला विरोधी एवं गरीब विरोधी नीतियों एवं कदमों के खिलाफ युवाओं को बड़े पैमाने पर जागृत करना है. इस यात्रा के माध्यम से हम देश के हर हिस्से तक पहुंचना चाहते हैं. इसके अलावा हम जगह-जगह चौपाल लगाएंगे जहां युवाओं से संवाद किया जाएगा.’

यात्रा और जनसभाओं से बताएंगे मोदी सरकार की वादाखिलाफी और सच्चाई

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष ने इन कार्यक्रमों को मंजूरी दी है. 30 जनवरी को हम दिल्ली में एक बड़ी जनसभा करेंगे जिसमें राहुल गांधी को आमंत्रित किया जाएगा. यात्रा के दौरान हम विभिन्न स्थानों पर सभाएं करेंगे और लोगों से बातचीत करेंगे. उन्हें मोदी सरकार की वादाखिलाफी और सच्चाई बताएंगे. चौपाल के कार्यक्रमों में हम युवाओं से संवाद करके उनके मुद्दों को समझने का प्रयास करेंगे.

युवा क्रांति यात्रा के दौरान हम सभी वर्गों के नौजवानों को अपने साथ जोड़ने भी कोशिश करेंगे क्योंकि इस सरकार में नफरत के जरिए युवाओं को बांटा गया है. युवाओं को एकजुट करना और उन तक राहुल गांधी का संदेश पहुंचाने का लक्ष्य हमने रखा है.आज देश में किसान के बाद युवा सबसे ज्यादा परेशान है क्योंकि उसके पास रोजगार नहीं है और बहुत सारे लोगों के रोजगार छिन गए हैं। युवाओं का आक्रोश आपको 11 दिसंबर को पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों में जरूर दिखेगा.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi