S M L

योगी आदित्यनाथ, पर्रिकर, मौर्य अभी बने रहेंगे सांसद, ये है वजह

तीनों फिलहाल संसद सदस्यता से इस्तीफा नहीं देंगे.

Updated On: Mar 22, 2017 11:21 AM IST

FP Staff

0
योगी आदित्यनाथ, पर्रिकर, मौर्य अभी बने रहेंगे सांसद, ये है वजह

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभालने वाले योगी आदित्यनाथ फिलहाल सांसद बने रहेंगे. उन्हीं की तरह गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर भी लोकसभा से फिलहाल इस्तीफा नहीं दे रहे. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी सांसद हैं और वह अभी सांसद बने रहेंगे. दरअसल यह फैसला राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए लिया गया है.

तीनों सांसद राज्य में अपनी जिम्मेदारियां संभालने के बावजूद राष्ट्रपति चुनाव होने तक अपनी संसद सदस्यता से इस्तीफा नहीं देंगे. राष्ट्रपति चुनाव जुलाई में होना है. संसद से इस्तीफा देने के लिए तीनों के पास 6 महीने का समय है. इस बीच तीनों को अपने-अपने राज्य के विधानमंडल के लिए चुना जाना जरूरी होगा. राज्य की विधानसभा या विधान परिषद में निर्वाचित होने के बाद 14 दिनों के भीतर उन्हें संसद की सदस्यता छोड़नी होगी.

ManoharParrikar-KeshavMaurya

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के आधार पर एकल हस्तांतरणीय मत द्वारा होता है. इस प्रक्रिया में संसद के सभी सदस्यों के साथ-साथ विधायक भी वोट करते हैं. एक सांसद के वोट का मूल्य 708 है. विधायकों के वोट का मूल्य अलग-अलग राज्यों की जनसंख्या पर निर्भर है. सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य यूपी के एक विधायक के वोट का मूल्य 208 है. ऐसे में बीजेपी चाहेगी कि योगी, मौर्य व पर्रिकर सांसद के रूप में मतदान करें.

बीजेपी राष्ट्रपति चुनाव में अपनी पसंद का उम्मीदवार जिताने की तैयारी में है. हाल में हुए पांच राज्यों के चुनावों के बाद समीकरण भी उसके साथ दिखते हैं. देश में कुल 4120 विधायकों में से भाजपा के विधायकों की संख्या 1400 से ऊपर है. हालांकि बीजेपी को अभी भी जीत के लिए अपने पत्ते सही चलने होंगे, यही कारण है कि फिलहाल योगी, मौर्य और पर्रिकर संसद में बने रहेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi