S M L

योगी आदित्यनाथ: द्रौपदी के चीरहरण की तरह तीन तलाक पर कुछ लोगों के मुंह बंद हैं

योगी आदित्यनाथ ने ये भी पूछा कि आखिर देश में कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं है

Updated On: Apr 17, 2017 01:27 PM IST

FP Politics

0
योगी आदित्यनाथ: द्रौपदी के चीरहरण की तरह तीन तलाक पर कुछ लोगों के मुंह बंद हैं

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश की मुस्लिम महिलाओं से जुड़े तीन तलाक के मुद्दे पर अपनी राय दी है.

बलिया में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की कही बातों को याद दिलाते हुए कहा कि, 'अगर हमारे देश में फौजदारी और शादी ब्याह के नियम समान है तो यूनिफॉर्म सिविल कोड क्यों नहीं हो सकता?

योगी आदित्यनाथ ने ये भी पूछा कि आखिर देश  में कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं है? उन्होंने तीन तलाक के मुद्दे पर मौन धारण किए लोगों को अपराधी की श्रेणी में खड़ा किया है.

उन्होंने आरोप लगाया कि तीन तलाक के मुद्दे पर कुछ लोगों का मुंह बंद है जो सही नहीं है.

योगी आदित्यनाथ ने तीन तलाक का विरोध करते हुए इसकी तुलना महाभारत में द्रौपदी के चीरहरण से करते हुए कहा कि, 'जिस तरह से महाभारत में द्रौपदी का चीरहरण हो रहा था और वहां बैठे राजा-महाराजा आंखों में पट्टी बांधे हुए थे, ठीक उसी तरह से हमारी मुस्लिम बहनों का चीरहरण हो रहा है और कुछ लोग आंख बंद किए  बैठे हैं.'

हाल ही में पीएम मोदी ने भी तीन तलाक के मुद्दे पर कहा था कि, 'मुसलमान बहनों को इस कारण समस्या का सामना करना पड़ रहा है. उन्हें इंसाफ मिलनी चाहिए और उनका शोषण नहीं होना चाहिए.'

पीएम के बयान का मुस्लिम धर्मगुरुओं ने भी स्वागत करते हुए कहा था कि इस मुद्दे पर गोलमोल बातें न करके इसे दूर करने के उपाय बताएं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi