S M L

यशवंत सिन्हा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, पार्टी पॉलिटिक्स से भी लिया संन्यास

केंद्र सरकार पर यशवंत सिन्हा ने हमला करते हुए कहा कि संसद का बजट सत्र इतना छोटा कभी नहीं रहा है, लेकिन भारत सरकार ने नियोजित ढंग से संसद को नहीं चलने दिया

Updated On: Apr 21, 2018 03:35 PM IST

FP Staff

0
यशवंत सिन्हा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, पार्टी पॉलिटिक्स से भी लिया संन्यास

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने शनिवार को बीजेपी और दलगत राजनीति छोड़ने की घोषणा की. यशवंत सिन्हा ने शनिवार को अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए इशारों-इशारों में नरेंद्र मोदी-अमित शाह की जोड़ी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज देश के लोकतंत्र पर खतरा है.

यशवंत सिन्हा ने कहा, 'मैं आज के बाद किसी दल के साथ नहीं रहूंगा न ही किसी भी राजनीतिक दल से कोई रिश्ता नहीं रहेगा. आज देश में लोकतंत्र खतरे में है जिन लोगों ने लोकतंत्र को खतरे में डाला उन ताकतों को हम मटियामेट कर देंगे. आज से 4 साल पहले ही मैं सक्रिय राजनीति से संन्यास ले चुका हूं. मैंने चुनावी राजनीति से खुद को अलग कर लिया है.'

यशवंत सिन्हा लंबे समय से बीजेपी की लीडरशिप से नाराज चल रहे हैं. नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों और फैसले का वो खुलकर विरोध करते रहे हैं.

यशवंत ने कहा कि बिहार ने बड़े आंदोलन पैदा किए हैं. केंद्र सरकार पर यशवंत सिन्हा ने हमला करते हुए कहा कि संसद का बजट सत्र इतना छोटा कभी नहीं रहा है, लेकिन भारत सरकार ने नियोजित ढंग से संसद को नहीं चलने दिया.

उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के कारण सत्र को छोटा कर दिया गया. सत्र नहीं चलने से सरकार बहुत खुश थी. सरकार ने अविश्वास प्रस्ताव के कारण सदन नहीं चलने दिया.

इस अधिवेशन में बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, शरद यादव और जदयू के असंतुष्ट नेता उदय नारायण चौधरी भी मौजूद रहे. कार्यक्रम में कांग्रेस, राजद, आम आदमी पार्टी और सपा समेत भाजपा-जदयू के असंतुष्ट नेताओं को भी बुलाया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi