S M L

J&K: 28 को खत्म हो रहा वोहरा का कार्यकाल, ये नाम शामिल हैं राज्यपाल की रेस में

अमरनाथ यात्रा के चलते जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल का बदलाव हाल फिलहाल में असंभव लग रहा है, ऐसा माना जा रहा है कि यात्रा समाप्त होने तक वोहरा ही राज्यपाल बने रहेंगे

Updated On: Jun 19, 2018 09:50 PM IST

FP Staff

0
J&K: 28 को खत्म हो रहा वोहरा का कार्यकाल, ये नाम शामिल हैं राज्यपाल की रेस में
Loading...

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी से बीजेपी ने गठबंधन खत्म कर लिया है. गठबंधन टूटने के बाद राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा भी सौंप दिया है. ऐसे में राज्य अब राज्यपाल शासन लग सकता है. चूंकि वर्तमान राज्यपाल एनएन वोहरा का दूसरा कार्यकाल जल्द ही खत्म होने वाला है, ऐसे में इस पद की दौड़ में कई लोग शामिल बताए जा रहे हैं.

सूत्रों की माने तो अमरनाथ यात्रा के चलते जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल का बदलाव हाल फिलहाल में असंभव लग रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि यात्रा समाप्त होने तक वोहरा ही राज्यपाल बने रहेंगे. अमरनाथ यात्रा श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष भी वोहरा ही है, ऐसे में उनकी जगह किसी और की नियुक्ति अमरनाथ यात्रा सुरक्षा लिहाजों से प्रभावित हो सकती है. उनके कार्यकाल को कम से कम तीन महीने के लिए बढ़ाया जा सकता है. फिर भी नए राज्यपाल के नाम को लेकर अटकलें भी तेज हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) सैयद अता हसनैन

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल की रेस में श्रीनगर स्थित चिनार कॉर्प्स के पूर्व कमांडर सैयद अता हसनैन सबसे आगे बताए जा रहे हैं. जनरल हसनैन को आम लोगों से जुड़ने में महारत हासिल है. जनरल हसनैन 2010-11 में जम्मू-कश्मीर में चलाए गए ऑपरेशन सद्भावना के कमांडिंग ऑफिसर भी रह चुके हैं. इसके माध्यम से घाटी में स्थिति काफी शांत हो गई थी.

दिनेश्वर शर्मा

जम्मू-कश्मीर के लिए केंद्र के विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा भी राज्य के राज्यपाल की रेस में शामिल बताए जा रहे हैं. इंटेलिजेंस ब्यूरो के पूर्व प्रमुख शर्मा फिलहाल कश्मीर के लिए वार्ताकार हैं. 1979 बैच के केरल कैडर के आईपीएस अधिकारी शर्मा को 2014 में दो साल के लिए आईबी का डायरेक्टर नियुक्त किया गया था. शर्मा ने वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल के साथ भी काम किया है.

राजीव महर्षी

कम्पट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल (कैग) ऑफ इंडिया राजीव महर्षी भी जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल बन सकते हैं. 1978 बैच के राजस्थान कैडर के आईएएस अधिकारी ने अपने 40 साल के कैरियर में कई महत्वपूर्ण पदों पर सेवा दिया है.

एएस दुलत

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के लिए रॉ के पूर्व प्रमुख अमरजीत सिंह दुलत के नाम की चर्चा भी हो रही है. इन्होंने काफी पहले ही घोषणा कर दी थी कि पीडीपी-बीजेपी का गठबंधन साल 2018 में ही खत्म हो जाएगा. कई राजनीतिक पंडित कह रहे हैं कि राज्य के अगले राज्यपाल दुलत ही होंगे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi