विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

गुजरात की 'डर्टी पॉलिटिक्स': कल का नायक क्या आज बन गया है खलनायक?

सोमवार को कथित सेक्स सीडी वायरल होने के बाद हार्दिक पटेल गुजरात और देश भर में सुर्खियों में आ गए

Amitesh Amitesh Updated On: Nov 14, 2017 03:33 PM IST

0
गुजरात की 'डर्टी पॉलिटिक्स': कल का नायक क्या आज बन गया है खलनायक?

पाटीदार आंदोलन के नायक के तौर पर अपनी पहचान बनाने वाले युवा नेता हार्दिक पटेल को क्या खलनायक के तौर पर पेश करने की साजिश रची जा रही है? क्या हार्दिक इतने भोले-भाले हैं कि उनको इस बात का इल्म ही नहीं है कि जायज-नाजायज का फर्क क्या होता है? यह चंद सवाल हैं जो इस वक्त गुजरात में चर्चा के केंद्र में हैं.

चर्चा इसलिए भी तेज हो गई है क्योंकि हार्दिक पटेल पर कुछ आरोप ही ऐसे लग गए हैं. इन दिनों कथित तौर पर हार्दिक पटेल के साथ एक महिला की सीडी वायरल हो रही है. हालाकि फ़र्स्टपोस्ट अपनी ओर से इस सीडी में हार्दिक पटेल के होने की पुष्टि नहीं कर रहा है, लेकिन, इस सीडी ने इस वक्त गुजरात की सियासत को गरमा दिया है.

hardik

पाटीदारों के आरक्षण मुद्दे पर हार्दिक पटेल अपने चुनाव प्रचार में सत्ताधारी बीजेपी पर लगातार हमला बोल रहे हैं

गुजरात की महिलाओं का अपमान किया जा रहा है

सेक्स सीडी के सामने आने के बाद हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा है कि ‘अब गंदी राजनीति की शुरूआत हो गई है. मुझे बदनाम कर लो कोई फर्क नहीं पड़ेगा, गुजरात की महिलाओं का अपमान किया जा रहा है.’

हार्दिक पटेल ने इस सीडी को डॉक्टर्ड सीडी बताकर अपनी छवि को ठेस पहुंचाने की कोशिश बताया है. हार्दिक को इस बात की आशंका पहले से थी, लिहाजा कुछ दिन पहले उन्होंने बीजेपी पर चुनावी फायदे के लिए खुद को बदनाम करने की कोशिश का आरोप लगा दिया था.

इस वीडियो के सामने आने के बाद अब गुजरात विधानसभा चुनाव में हार्दिक के प्रभाव को तौलने की कवायद हो रही है. क्या इस वीडियो के बाद हार्दिक पटेल का प्रभाव-क्षेत्र कम होगा? क्या हार्दिक पटेल की पाटीदारों के बीच पकड़ कमजोर होगी? क्या इससे हार्दिक पटेल की छवि खराब नहीं होगी और ऐसे में वो गुजरात में चुनाव के दौरान महिलाओं के बीच जाकर क्या संदेश देंगे? यह चंद सवाल हार्दिक पटेल को परेशान करने के लिए काफी हैं. हार्दिक को इससे परेशानी हो भी रही है.

उनकी तरफ से इसे बीजेपी की साजिश बताकर खुद को पाक-साफ दिखाने की कोशिश हो रही है. लेकिन, सियासत में ‘परसेप्शन’ की लड़ाई सबसे ज्यादा होती है और इस लडाई में हार्दिक को इस तथाकथित सेक्स सीडी ने भारी नुकसान पहुंचाया है.

CD's

सोमवार को स्थानीय मीडिया में हार्दिक पटेल की एक महिला के साथ कथित सेक्स सीडी वायरल होने की खबरें दिखाई गई

2015 में आरक्षण का आंदोलन शुरू करने के समय भी लगा था आरोप

लेकिन, यह पहला मौका नहीं है जब हार्दिक पटेल इस तरह के आरोपों से घिरे हैं. इसके पहले 2015 में पाटीदारों के लिए आरक्षण का आंदोलन शुरू करने के कुछ दिन बाद ही उन पर इसी तरह का आरोप लगा था. उस वक्त भी इन आरोपों का खंडन कर दिया गया था.

लेकिन, इस बार का माहौल कुछ अलग है. बीच चुनाव में जब हार्दिक कांग्रेस के साथ कदमताल करने के मूड में नजर आ रहे हैं तो इस वक्त उनकी उम्मीदों पर पानी फिर सकता है.

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक पटेल पाटीदार समुदाय के युवाओं के बीच एक नायक के तौर पर दिखने लगे थे. आरक्षण को लेकर उनके आंदोलन की आग ने पूरे गुजरात में उन्हें पटेल समुदाय के नायक के तौर पर सामने ला खड़ा किया था. लेकिन, चुनाव नजदीक आते ही हार्दिक पटेल की राजनीति भटकती नजर आने लगी है.

हार्दिक पटेल पहले आरक्षण को लेकर बीजेपी सरकार के खिलाफ अभियान चला रहे थे. लेकिन, उनके कांग्रेस से नजदीकी और मिलीभगत की खबर सामने आते ही उनके दावों की हवा निकलती नजर आ रही है.

सबसे ज्यादा फजीहत तो उस वक्त हुई जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी गुपचुप मुलाकात सार्वजनिक हो गई. हार्दिक पटेल की तरफ से राहुल गांधी के अहमदाबाद दौरे के वक्त मुलाकात से इनकार किया जाता रहा, शायद हार्दिक कांग्रेस को खुलकर समर्थन देने से कतरा रहे हों, लेकिन, अंदरखाने बन रही उनकी रणनीति की धार उस वक्त कुंद हो गई जब होटल में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी मुलाकात का खुलासा हो गया.

बीजेपी हार्दिक को कांग्रेस के एजेंट की तरह पेश करने में कामयाब रही

मजे की बात है कि उस वक्त भी हार्दिक पटेल लगातार राहुल गांधी से मुलाकात को नकारते रहे लेकिन, सीसीटीवी फुटेज के लीक होने के बाद उस वक्त भी उनकी छवि को ठेस पहुंची थी. बीजेपी हार्दिक को कांग्रेस के एजेंट की तरह पेश करने में कामयाब रही.

Rahul Gandhi-Hardik Patel

इस बार के गुजरात विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी और हार्दिक पटेल की साख दांव पर लगी है

एक बार फिर बीजेपी अब इस तथाकथित सीडी के सामने आने के बाद हार्दिक पटेल की छवि पर ही प्रहार करेगी. क्योंकि बीजेपी को लगता है कि पहले कांग्रेस के साथ हार्दिक की मिलीभगत और फिर इस सीडी के सामने आने से हार्दिक की विश्वसनीयता काफी कमजोर हो सकती है. लिहाजा बीजेपी हार्दिक को घेरने के लिए उनकी नायक छवि को बतौर खलनायक बदलने में लगी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi