S M L

ईवीएम के बचाव में सामने आए वर्तमान और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त

मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति का बयान आया. उन्होंने कहा कि मीडिया में ईवीएम के बारे में उठाए गए सवाल जायज नहीं है

Updated On: Dec 18, 2017 04:11 PM IST

FP Staff

0
ईवीएम के बचाव में सामने आए वर्तमान और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणामों में वोटो की गिनती जारी है. स्थिति लगभग स्पष्ट होने के साथ ही कांग्रेस पार्टी सहित बीजेपी के अन्य विरोधी दलों ने ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप लगाने लगे.

इन सब के बीच मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति का बयान आया. उन्होंने कहा कि मीडिया में ईवीएम के बारे में उठाए गए सवाल जायज नहीं है. दोनों राज्यों के सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी मौजूद था. वोटर ये देख सकते थे कि उन्होंने किसे वोट दिया है. ईवीएम पर मीडिया में कई सवाल उठा गए, उन सब का पहले ही उत्तर दिया जा चुका है.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि मैं आश्वस्त करता हूं कि ईवीएम के साथ किसी तरह से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती. गुजरात के सभी मतगणना केंद्रों पर राज्य के मुख्य चुनाव पदाधिकारी के की ओर से सभी तैयारी कर दी गई है.

वहीं पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एचएस ब्रह्मा ने कहा कि पहले भी कई बार ये साबित हो चुका है कि हमारे ईवीएम मशीन हैक नहीं किए जा सकते. इसलिए इस तरह की अटकलबाजियों पर विराम लग जाना चाहिए.

एक और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला का कहना है कि मेरे समय में बीजेपी ने भी इसी तरह के सवाल उठाए थे. मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ संभव नहीं है. अभी क्या, भविष्य में भी ऐसा संभव नहीं है.

वहीं पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन. गोपालास्वामी ने कहा कि ईवीएम के साथ ब्लूटूथ क्या, किसी भी तरह से छेड़छाड़ संभव नहीं है. इस तरह की चर्चाएं केवल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए किया जाता है.

जानकारी के मुताबिक गुजरात में 182 सीटों के लिए दो चरणों में मतदान हुए. वहीं हिमाचल प्रदेश में 68 सीटों के लिए लोगों ने मतदान किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi