S M L

बिहार में RLSP ने नीतीश को NDA का चेहरा मानने से किया इनकार

गुरूवार को हुई बीजेपी बिहार इकाई के प्रमुख नित्यानंद रॉय के यहाँ हुई एनडीए के घटक दलों की बैठक में उपेन्द्र कुशवाहा का शामिल ना होना भी उनके विरोध के तौर पर देखा जा रहा है

FP Staff Updated On: Jun 08, 2018 10:57 AM IST

0
बिहार में RLSP ने नीतीश को NDA का चेहरा मानने से किया इनकार

लोकसभा चुनाव से पहले सीट बंटवारे को लेकर एनडीए में एक बार फिर तकरार सामने आई है. बिहार से एनडीए के सहयोगी दल आरलएसपी के प्रदेश अध्यक्ष नागमणि ने नीतीश कुमार को अपना नेता मानने से इनकार कर दिया है.

उन्होंने कहा है कि बिहार में जेडीयू से ज्यादा लोकप्रिय हमारी पार्टी है. उन्होंने कहा कि हमने पिछले लोकसभा चुनावों में जेडीयू से अच्छा प्रदर्शन है. और आने वाले चुनावों में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे.

गुरुवार को हुई बीजेपी बिहार इकाई के प्रमुख नित्यानंद रॉय के यहां हुई एनडीए के घटक दलों की बैठक में उपेन्द्र कुशवाहा का शामिल ना होना भी उनके विरोध के तौर पर देखा जा रहा है. जिसमें एनडीए के और सभी घटक दलों के नेता शामिल हुए थे. हालांकि बाद में आरलएसपी के वरिष्ठ नेता नागमणि भी इस बैठक में शामिल हुए.

DfIjL9tUcAAp3mi

आपको बता दें कि अभी हाल ही के दिनों में नीतीश कुमार को बिहार में एनडीए का चेहरा बताया गया था. तभी से कुशवाहा और उनकी पार्टी इस फैसले से नाराज बताए जा रहे हैं. आरलएसपी की तरफ से इसको लेकर एक बयान भी आया था कि किसी भी राज्य में एनडीए का चेहरा केंद्रीय स्तर से तय किया जाए ना कि राज्य स्तर पर.

आरलएसपी दावा कर रही है कि अगर आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव उपेन्द्र कुशवाहा को गठबंधन के नेता के तौर पर पेश करके लड़ा जाए तो एनडीए इन चुनावों में अच्छी सफलता हासिल कर सकती है.

चुनाव चिन्ह- राष्ट्रीय लोक समता पार्टी

चुनाव चिन्ह- राष्ट्रीय लोक समता पार्टी

आरलएसपी के वरिष्ठ नेता नागमणि ने कहा कि बीजेपी के बाद बिहार में एनडीए के घटक दलों में आरलएसपी का समर्थन का आधार सबसे बड़ा है. राष्ट्रीय स्तर पर भी हमारी पार्टी जेडीयू से बड़ी है और 2014 के लोकसभा चुनाव में हमारे के समर्थन से एनडीए को लाभ हुआ था. हालांकि तब जेडीयू एनडीए से गठबंधन तोड़कर अकेले चुनाव लड़ी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi