S M L

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी से कम सीटें मिली, तो नहीं बनेगी सहमति: जीतन राम मांझी

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मायने नहीं रखता, ‘हमें एक, दो या दस सीट मिलती हैं बल्कि हमें कुशवाहा जी से अधिक सीट मिलनी चाहिए’

Updated On: Feb 12, 2019 09:58 PM IST

Bhasha

0
उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी से कम सीटें मिली, तो नहीं बनेगी सहमति: जीतन राम मांझी

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा सेक्युलर (HAM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने मंगलवार को कहा कि महागठबंधन में उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी को जितनी सीटें मिलेंगी, उससे कम पर वह सहमत नहीं होंगे. मांझी के स्थानीय आवास पर मंगलवार को HAM सेक्युलर की कोर कमेटी की बैठक हुई, इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में मांझी ने कहा, 'हम उनसे (कुशवाहा की पार्टी से) कम सीट पर किसी भी कीमत पर लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. अगर नहीं राजी होते हैं तो हमलोग विचार करेंगे कि क्या करना है.’

एनडीए छोड़कर महागठबंधन में शामिल हुए मांझी से यह पूछे जाने पर कि महागठबंधन से नाता तोड़ने पर उनके पास दूसरा विकल्प क्या होगा. उन्होंने इस बारे में कुछ भी तत्काल कहने से इंकार करते हुए कहा, ‘विकल्प पर पार्टी के भीतर बात होगी. आगामी 18 फरवरी को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक है.’ उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति में हमलोग कुशवाहा की पार्टी से अधिक सीट पाने की बात करेंगे.

मांझी ने कहा, ‘कुशवाहा कुछ दिन पहले महागठबंधन में शामिल हुए हैं जबकि HAM सेक्युलर पहले से महागठबंधन में शामिल है. ऐसे में अगर उनसे कम सीट पर हम सेक्युलर को चुनाव लड़ने के लिए कहा जाएगा तो यह कैसे संभव होगा.’ उन्होंने कहा कि यह मायने नहीं रखता, ‘हमें एक, दो या दस सीट मिलती हैं बल्कि हमें कुशवाहा जी से अधिक सीट मिलनी चाहिए.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi