विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सीडी मामले की सीबीआई जांच कराने की सिफारिश

मूणत ने बाद में बीजेपी के अन्य नेताओं के साथ सिविल लाईंस थाना में जाकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कराया

Bhasha Updated On: Oct 28, 2017 10:56 PM IST

0
सीडी मामले की सीबीआई जांच कराने की सिफारिश

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के मंत्री की कथित अश्लील सीडी मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है.

राज्य के राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री रमन सिंह की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में शुक्रवार को प्रसारित सीडी मामले की सीबीआई से जांच की अनुशंसा की गई है.

पांडेय ने कहा कि फर्जी सीडी बनाने में अंतरराज्यीय साजिश और अपराध सुनियोजित तरीके से किया गया है. सीडी का उच्च स्तरीय तकनीकी परीक्षण आवश्यक है.

मंत्री ने कहा कि फर्जी सीडी बनाने में पैसे का लेन देन भी हुआ होगा, जिसकी जांच आवश्यक है.

पांडेय ने कहा कि मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की गई है. कुछ मीडिया ने इस मामले में बताया है कि यह सीडी फर्जी है. वैसे बीजेपी पहले से ही कह रही है कि यह सीडी फर्जी है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस षड्यंत्र में शामिल है. यह राजनीतिक आपराधिक साजिश का मुद्दा भी बन सकता है. इसीलिए इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जाएगी.

जब मंत्री से पूछा गया कि क्या मंत्री जांच होने तक इस्तीफा देंगे तब उन्होंने कहा कि राज्य का मंत्री सीबीआई को कैसे प्रभावित कर सकता है. छत्तीसगढ़ में मंत्री राजेश मूणत की कथित अश्लील सीडी सामने आने के बाद राज्य की राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है.

यह मामला तब सामने आया जब छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार तड़के पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया था.

पुलिस के मुताबिक रायपुर जिले के पंडरी थाना में प्रकाश बजाज नामक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई थी कि फोन के माध्यम से उसे धमकी मिल रही है कि उसके आका की सीडी उसके पास है. साथ ही उसे अपनी मांग पूरी करने के लिए कहा जा रहा है.

बजाज की शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की और गाजियाबाद से वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया.

पुलिस ने वर्मा के पास से पांच सौ अश्लील सीडी, पेन ड्राईव, डायरी और लैपटाप बरामद करने का दावा किया है. वर्मा की गिरफ्तारी के बाद राज्य के मंत्री की कथित अश्लील सीडी सामने आने की बात कहीं गई.

सीडी के सामने आने के बाद राज्य के लोक निर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूणत ने पत्रकार सम्मेलन में कहा कि सीडी फर्जी है और चरित्र हनन करने का प्रयास है.

मूणत ने कराया एफआईआर

वहीं मूणत ने बाद में बीजेपी के अन्य नेताओं के साथ सिविल लाईंस थाना में जाकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

पुलिस ने बघेल और वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

थाने में मामला दर्ज होने के बाद छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने पूरे मामले की स्वतंत्र एजेंसी से सुप्रीम कोर्ट की देख—रेख में जांच कराने की मांग की है.

बघेल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस मामले में जिस प्रकार से पूरी सरकार और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी सामने आई है उससे किसी भी सरकारी एजेंसी से मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं है.

उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि पूरे मामले की स्वतंत्र एजेंसी से सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में जांच कराई जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi