S M L

सत्ता में बैठे लोगों को राम मंदिर बनाने की मांग पूरी करनी चाहिए: भैयाजी जोशी

Updated On: Dec 09, 2018 04:02 PM IST

Bhasha

0
सत्ता में बैठे लोगों को राम मंदिर बनाने की मांग पूरी करनी चाहिए: भैयाजी जोशी

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के वरिष्ठ नेता सुरेश ‘भैयाजी’ जोशी ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण मामले में सरकार पर हमला किया है. भैयाजी ने अपने वादे को पूरा नहीं करने को लेकर रविवार को बीजेपी पर परोक्ष हमला करते हुए केंद्र सरकार से राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने की मांग की.

रामलीला मैदान में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) की एक रैली में बोलते हुए आरएसएस के कार्यवाह ने कहा, ‘जो आज सत्ता में हैं, उन्होंने राम मंदिर बनाने का वादा किया था. उन्हें लोगों की बात सुननी चाहिए और अयोध्या में राम मंदिर की मांग को पूरा करना चाहिए. वो लोग भावनाओं से अवगत हैं.'

बीजेपी का नाम लिए बिना उन्होंने कहा, ‘हम इसके लिए भीख नहीं मांग रहे हैं. हम अपनी भावनाएं प्रकट कर रहे हैं. देश ‘राम राज्य’ चाहता है.'

संसद के शीतकालीन सत्र से कुछ दिन पहले विश्व हिंदू परिषद की रैली में रविवार को हजारों लोग अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग के साथ रामलीला मैदान में जुटे हैं.

अयोध्या में संबंधित भूमि के मालिकाना हक की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में लंबित है. अगले साल जनवरी में अदालत सुनवाई के तारीख की घोषणा करेगी. लेकिन यह विवाद पिछले 25 साल से अनसुलझा है. दक्षिणपंथी संगठनें केंद्र सरकार से अदालत से परे जा कर मंदिर निर्माण की दिशा में आगे बढ़ने की मांग कर रही हैं.

ये भी पढ़ें: राम मंदिर धर्म सभा: जब राम के नाम से गूंज उठी अयोध्या की हर गली

जोशी के अलावा विहिप अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे और इसके अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार भी इस रैली को संबोधित कर सकते हैं.

dharm sansad

यातायात पुलिस ने रैली को देखते हुए मार्ग परिवर्तन का परामर्श जारी किया है. परामर्श में कहा गया है कि रंजीत सिंह फ्लाईओवर (गुरु नानक चौक से बाराखम्बा रोड), जेएलएन मार्ग (राजघाट से दिल्ली गेट) और वीआईपी गेट के निकट चमन लाल मार्ग पर गाड़ियों के आवागमन की अनुमति नहीं दी जाएगी.

रामलीला मैदान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और ऊंची जगहों पर स्नाइपर तैनात किए गए हैं.

इस रैली के लिए विहिप ने लोगों के घर-घर जाकर प्रचार अभियान चलाया.

विहिप के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा, ‘राम मंदिर के निर्माण के लिए जो लोग विधेयक लाने के पक्ष में नहीं हैं, यह जबरदस्त रैली उन लोगों का हृदय परिवर्तन करेगी.'

संगठन ने मंदिर के अपने अभियान के पूर्व के चरणों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और राज्य के राज्यपालों से मुलाकात की थी. आने वाले चरण में वे मंदिरों और मठों में धार्मिक अनुष्ठान और प्रार्थना आयोजित करेंगे.

इस अभियान का समापन प्रयाग में साधु-संतों की ‘ धर्म संसद’ के साथ होगा. अंतिम ‘धर्म संसद’ 31 जनवरी और एक फरवरी को आयोजित होगी.

ये भी पढ़ें: LIVE Updates: राम मंदिर निर्माण के लिए कानून के अलावा विकल्प नहीं, BJP अपना संकल्प पूरा करे- RSS

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi