S M L

मानवेंद्र सिंह ने छोड़ी बीजेपी, कहा: कमल का फूल-हमारी भूल थी

2014 के लोकसभा चुनावों में बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी के वरिष्ठ नेता और मानवेंद्र सिंह के पिता जसवंत को पार्टी के टिकट से इंकार के बाद से ही परिवार के रिश्ते मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ संबंध खराब हो गए थे

Updated On: Sep 22, 2018 05:54 PM IST

FP Staff

0
मानवेंद्र सिंह ने छोड़ी बीजेपी, कहा: कमल का फूल-हमारी भूल थी

अनुभवी बीजेपी नेता जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह ने शनिवार को राजस्थान के बाड़मेर जिले में अपनी स्वाभिमान रैली के दौरान बीजेपी को अलविदा कह दिया. पार्टी छोड़ने के अपने फैसले की घोषणा करते हुए मानवेंद्र ने कहा, 'कमल की फूल हमारी भूल थी.' 2014 के लोकसभा चुनावों में बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी के वरिष्ठ नेता और मानवेंद्र सिंह के पिता जसवंत को पार्टी के टिकट से इंकार के बाद से ही परिवार के रिश्ते मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ संबंध खराब हो गए थे.

वहीं मानवेंद्र सिंह को कांग्रेस से बीजेपी में आए उम्मीदवार सोनाराम के बदले अपने पिता के लिए प्रचार के कारण पार्टी से निलंबित कर दिया गया था. लेकिन उसके बाद भी मानवेंद्र सिंह शिओ विधानसभा क्षेत्र को बीजेपी एमएलए के तौर पर ही प्रतिनिधित्व करते रहे. 22 सितंबर से शुरु हुई स्वाभिमान रैली में मानवेंद्र सिंह की पत्नी चित्रा सिंह भी उनके साथ खड़ी हैं. और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ अभियान चला रही हैं.

मानवेंद्र सिंह ने कहा कि रैली उन सभी लोगों के 'स्वाभिमान' के लिए है जो हमारे साथ हैं. यह एक जाति या समुदाय की बैठक नहीं है. इसमें 'छत्तीस कौम' के लोगों द्वारा भाग लिया जाएगा. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने कहा कि पार्टी ने चर्चा के लिए मानवेंद्र सिंह से संपर्क किया है. पार्टी के बाड़मेर इकाई के अध्यक्ष जलाम सिंह रावलॉट का दावा है कि भाजपा के खिलाफ राजपूतों में कोई असंतोष नहीं है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi