S M L

वन रैंक-वन पेंशन: पूर्व सैनिक ने जंतर-मंतर पर की खुदकुशी

दिल्ली में एक पूर्व सैनिक ने मंगलवार रात जहर खाकर आत्महत्या कर ली.

Updated On: Nov 22, 2016 02:38 PM IST

IANS

0
वन रैंक-वन पेंशन: पूर्व सैनिक ने जंतर-मंतर पर की खुदकुशी

दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना दे रहे एक पूर्व सैनिक ने मंगलवार रात जहर खाकर आत्महत्या कर ली. सैनिक ने खुदकुशी से पहले एक नोट लिखा था कि उनकी मांगें न पूरी होने के कारण वे खुदकुशी कर रहे हैं. पूर्व सैनिक लंबे समय से वन रैंक-वन पेंशन की मांग कर रहे हैं.

सैनिक की पहचान हरियाणा के भिवानी निवासी रामकिशन ग्रेवाल के रूप हुई है. राम किशन ग्रेवाल ने नोट में लिखा था, 'मैं मेरे देश के लिए, मेरी मातृभूमि के लिए और मेरे देश के जवानों के लिए अपने प्राण न्योछावर कर रहा हूं.

14876521_1839182679659667_4109392295163315801_o

पुलिस ने बताया कि विरोध-प्रदर्शन कर रहे सैनिक वन रैंक-वन पेंशन मसले पर रक्षा मंत्रालय में ज्ञापन देने गए थे. इसी दौरान जवाहर भवन के लॉन में ग्रेवाल ने जहर खा लिया. ग्रेवाल के एक दोस्त का कहना है कि वे कुछ समय से इस मसले को लेकर परेशान थे.

सीएनएन-न्यूज 18 के मुताबिक, सैनिक के परिवार ने इस खुदकुशी के लिए केंद्र सरकार को दोषी ठहराया है. रामकिशन ग्रेवाल वन रैंक-वन पेंशन के मसले पर सरकार के फैसले से संतुष्ट नहीं थे. इसे लेकर वे अपने कुछ साथियों के साथ सोमवार से जंतर-मंतर पर धरना दे रहे थे.

धरना दे रहे सैनिकों ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के नाम एक पत्र भी लिखा था, जिसमें कहा गया था कि उनके कुछ रिटायर्ड सहकर्मियों को उनसे ज्यादा पेंशन मिलती है, जबकि उनकी रैंक समान है. उनकी पेंशन बहुत कम है. उन्होंने पेंशन स्कीम पर सवाल उठाए थे.

ग्रेवाल के बेटे ने एएनआई को बताया, 'उन्होंने मुझे फोन किया और कहा कि वे खुदकुशी करने जा रहे हैं क्योंकि सरकार उनकी वन रैंक-वन पेंशन की मांग को पूरा करने में नाकान रही है.'

मंगलवार दोपहर रामकिशन साथियों के साथ अपनी मांगों को लेकर रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर से मिलने जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उन्होंने जहर खा लिया.

आनन-फानन में रामकिशन को राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान रामकिशन की मौत हो गई.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा, 'मोदीराज में किसान और जवान दोनों खुदकुशी कर रहे हैं. इसका मतलब प्रधानमंत्री झूठ बोल रहे हैं कि वन रैंक वन पेंशन लागू कर दिया गया है. अगर वन रैंक-वन पेंशन लागू हो गई है तो राम किशन जी ने खुदकुशी क्यों की.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi