S M L

महंगी बिजली खरीद वसुंधरा सरकार ने लगाया 6670 करोड़ का चूना: कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने आरटीआई अर्जियों पर सरकार द्वारा दिए गए जवाबों के आधार पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने अपने पूंजीपति मित्रों की निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाया वहीं सरकारी बिजली कंपनियों को कंगाल किया

Updated On: Nov 30, 2018 05:33 PM IST

Bhasha

0
महंगी बिजली खरीद वसुंधरा सरकार ने लगाया 6670 करोड़ का चूना: कांग्रेस

कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने बीते पांच साल में निजी कंपनियों से महंगी दर पर बिजली खरीदी और सरकारी खजाने को 6670 करोड़ रुपए का चूना लगाया.

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने विभिन्न आरटीआई अर्जियों पर सरकार द्वारा दिए गए जवाबों के आधार पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने अपने पूंजीपति मित्रों की निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाया वहीं सरकारी बिजली कंपनियों को कंगाल किया.

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने 2008 से 2013 के दौरान अपने पांच साल के कार्यकाल में 6526 करोड़ रुपए की बिजली खरीदी थी. वहीं वसुंधरा राजे सरकार ने वित्त वर्ष 2013-14 से लेकर फरवरी 2018 तक लगभग पांच साल में ही 41966.44 करोड़ रुपए की बिजली खरीद डाली.

उन्होंने आरोप लगाया कि इसमें से वसुंधरा सरकार ने बीजेपी की करीबी तीन बड़ी कंपनियों से पांच साल में 25,951.75 करोड़ रुपए की बिजली खरीदी जिनमें सज्जन जिंदल की सहायक कंपनी राज वेस्ट पॉवर, अडानी पॉवर राजस्थान लिमिटेड व टाटा के स्वामित्व वाली कोस्टल गुजरात है.

कांग्रेस ने एक बड़ा आरोप यह लगाया है कि इन कंपनियों से यह बिजली डेढ़ गुना या इससे भी अधिक दाम पर खरीदी गई. इससे सरकारी खजाने को 6670 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार सत्ता में आने पर सरकारी कंपनियों से उत्पादन बढ़ाने पर जोर देगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi