S M L

स्वामी चिन्‍मयानंद पर लगा रेप केस वापस लेगी योगी सरकार

9 मार्च को शाहजहांपुर के जिला मजिस्‍ट्रेट की तरफ से इस संबंध में एक पत्र जारी किया गया है

FP Staff Updated On: Apr 10, 2018 05:46 PM IST

0
स्वामी चिन्‍मयानंद पर लगा रेप केस वापस लेगी योगी सरकार

एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश में बीजेपी विधायक पर रेप के आरोप से बवाल मचा हुआ है. वहीं, अब योगी सरकार के फैसले पर लखनऊ के सियासी माहौल में चर्चा का बाजार गर्म है. दरअसल, योगी सरकार ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री और मुमुक्षु आश्रम के प्रमुख स्‍वामी चिन्‍मयानंद पर दर्ज रेप केस वापस लेने का फैसला किया है. सोमवार यानी 9 मार्च को शाहजहांपुर के जिला मजिस्‍ट्रेट की तरफ से इस संबंध में एक पत्र जारी किया गया है.

हाल ही में योगी सरकार ने प्रदेश में राजनीतिक कारणों से दर्ज मुकदमों को वापस लेने का फैसला किया था. इसी क्रम में इस फैसले को भी जोड़कर देखा जा रहा है. फरवरी में ही सीएम योगी का शाहजहांपुर दौरा हुआ था. इस दौरान वह स्वामी चिन्मयानंद के मुमुक्षु आश्रम भी गए थे, जहां सीएम ने युवा महोत्सव में भाग लिया था.

वरिष्‍ठ अभियोजन अधिकारी को संबोधित उक्त पत्र एडीएम (प्रशासन) की तरफ से जारी किया गया है. पत्र में सक्षम अधिकारी को इस पर अमल के लिए भी लिख दिया गया है. पत्र में लिखा गया है कि शासन ने शाहजहांपुर कोतवाली में स्वामी चिन्मयानंद पर दर्ज धारा-376, 506 आईपीसी का केस वापस लिए जाने का फैसला किया है. शासनादेश के तहत कृत कार्रवाई से अवगत कराने का कष्ट करें, ताकि शासन को भी अवगत कराया जा सके.

स्वामी चिन्मयानंद पर क्या है आरोप

उल्लेखनीय है जौनपुर से सांसद रहे स्वामी चिन्मयानंद केंद्र की वाजपेयी सरकार में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री थे. इस दौरान उनके संपर्क में आईं बदायूं निवासी साध्वी ने वर्ष 2011 में उन पर हरिद्वार के आश्रम में बंधक बनाकर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. इसके बाद शाहजहांपुर कोतवाली में 30 नवंबर 2011 को स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म व जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया गया. मामले में गिरफ्तारी के खिलाफ स्वामी ने हाईकोर्ट से स्टे हासिल कर लिया था, तभी से मामला लंबित चल रहा है.

आदेश की कॉपी

फोटो-न्यूज 18

फोटो-न्यूज 18

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi