S M L

कर्जमाफी के नाम पर किसानों से मजाक ना करे योगी सरकार: आरएलडी

आरएलडी का कहना है कर्जमाफी प्रमाण पत्र बांटना तो ठीक है. लेकिन उसके नाम पर करोड़ों रुपए का मंच बनाना कहां तक उचित है

Updated On: Sep 11, 2017 04:51 PM IST

Bhasha

0
कर्जमाफी के नाम पर किसानों से मजाक ना करे योगी सरकार: आरएलडी

राष्ट्रीय लोकदल ने कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ छलावा करने का आरोप प्रदेश सरकार पर लगाया है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मसूद अहमद ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा कि एक ओर यह सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति पर आंसू बहाने का नाटक करती है और दूसरी ओर कर्जमाफी के नाम पर भद्दा मजाक करती है.

आरएलडी का कहना है कर्जमाफी प्रमाण पत्र बांटना तो ठीक है. लेकिन उसके नाम पर करोड़ों रुपए का मंच बनाना कहां तक उचित्त है? यही नहीं इन्हीं मंचों पर किसानों को बुलाकर उनकी आर्थिक स्थिति का मखौल उड़ा रही है.

पार्टी ने आरोप लगाया कि कई जनपदों में किसानों को कर्ज माफी के नाम पर 08, 25, 55 और 238 रुपये का प्रमाणपत्र देकर उनका अपमान किया जा रहा है.

बड़े-बड़े सेठों ने अपनी-अपनी मिलों के लिए दौड़ लगानी शुरू कर दी है. ताकि अधिक से अधिक गन्ने का आवंटन उनकी मिल के पक्ष में हो सके. भले ही किसानों के लिए वह कितना भी दूर क्यों ना हो.

यही स्थिति कमोवेश धान किसानों की भी है जहां चावल के मिल मालिकों द्वारा धान की सीधी खरीद में सरकार की ओर से अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है. दोनों ही स्थितियां किसानों के लिए लाभप्रद नहीं हो सकती हैं.

आरएलडी के प्रदेश अध्यक्ष ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि प्रदेश सरकार द्वारा जल्द ही गन्ना किसानों की मिलों का आवंटन नजदीक की मिलों में नहीं किया गया तो राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ता और किसान धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे.

साथ ही धान किसानों को धान क्रय केन्द्रों पर उचित सुविधाएं नहीं दी गयीं तो . इसके लिए प्रदेश सरकार जिम्मेदार होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi