विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

‘सुबह बनारस, शाम बनारस, मोदी तेरे नाम बनारस’ के नारों से गूंजा बनारस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी की सड़कों में रोडशो किया जिसमें लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा

Bhasha Updated On: Mar 04, 2017 07:29 PM IST

0
‘सुबह बनारस, शाम बनारस, मोदी तेरे नाम बनारस’ के नारों से गूंजा बनारस

पूर्वी उत्तरप्रदेश में बीजेपी के पक्ष में मतदाताओं को गोलबंद करने का प्रयास करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी की सड़कों में रोड शो किया जिसमें लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा. इसके बाद पीएम मोदी ने जौनपुर में भी रैली की.

प्रधानमंत्री का रोड शो शनिवार को वाराणसी में हुआ. प्रधानमंत्री ने इस दौरान वाराणसी के दो मंदिरों में पूजा अर्चना भी की.

इसी दिन उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में छठे चरण के लिए 40 सीटों पर मतदान हो रहा है.बीजेपी का मानना है कि इस रोड शो से उसे 8 मार्च को होने वाले अंतिम चरण के चुनाव में 40 सीटों पर काफी फायदा होगा.

प्रधानमंत्री मोदी का रोड शो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से शुरू हुआ. वहां उन्होंने हिंदुत्व विचारक पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की.

रोड शो के दौरान प्रधानमंत्री की झलक पाने के लिए लोगों का हुजूम बनारस की सड़कों पर उमड़ पड़ा. लोग कई तरह के नारे लगा रहे थे जिसमें ‘सुबह बनारस, शाम बनारस, मोदी तेरे नाम बनारस’, मोदी, मोदी, जैसे नारे शामिल थे. प्रधानमंत्री हाथ उठाकर और हाथ जोड़कर लोगों को अभिवादन कर रहे थे.

modi1 

पीएम ने जौनपुर में उठाया बिजली का मुद्दा 

यहा भी प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को नही छोड़ा. उनपर पर निशाना साधते हुए कहा, ‘अखिलेश जी मुझसे कह रहे थे कि अगर आप एक्सप्रेसवे पर जाओगे तो आप भी एसपी को वोट दे दोगे.'

मोदी आगे बोले आप एक काम करो आप साइकिल पर अपने नए यार कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को बैठाकर इसी जौनपुर में खेतासराय-खुटहन मार्ग पर साइकिल चलाकर दिखा दो, तो आप भी एसपी को वोट नहीं दोगे.

उन्होंने जनता से कहा, ‘उत्तर प्रदेश में बीजेपी की बहुमत की सरकार बनाइये, ताकि हम पांच साल बाद हिसाब दें सकें. वर्ष 2022 में जब अगला चुनाव होगा, तब आप मुझसे हिसाब मांगिएगा, मैं हिसाब दे दूंगा.’

प्रधानमंत्री ने बिजली आपूर्ति का मुद्दा एक बार फिर उठाते हुए पूछा, ‘जौनपुर वाले बताएं कि आपको 24 घंटे बिजली मिलती है क्या. आपके मुख्यमंत्री तो कहते हैं कि मिलती है.'

पीएम ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा, 'वह आपकी आंखों में धूल झोंक रहे हैं कि नहीं. क्या ऐसे लोगों पर आप भरोसा करेंगे. भारत सरकार 24 घंटे बिजली देने के लिए पैसे दे रही है. लेकिन उनको तो सिर्फ सैफई में बिजली चाहिए, जौनपुर में नहीं.’

उन्होंने कानून-व्यवस्था का भी मुद्दा उठाते हुए कहा कि अगर कानून का राज नहीं होगा तो यहां पूंजी निवेश नहीं होगा. इससे लोगों को रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में जाना पड़ेगा, इसलिए यूपी में कानून-व्यवस्था सबसे अहम मुद्दा है.

pm modi jaunpur rally

तस्वीर: पीटीआई

मोदी ने कहा कि यहां के थाने एसपी के दफ्तर हैं. यहां तो जेल भी जेल नहीं बल्कि बाहुबलियों के लिये महल बन गयी हैं. अगली 11 मार्च को बाजेपी साथियों की सरकार बनने के बाद सच्चे अर्थ में थाने को थाना और जेल को जेल बनाएंगे. मौज कर रहे सारे बाहुबलियों को एक ही दिन में ठीक कर देंगे.

वे पुलिसवालों को भी उठवा लेते हैं. वे जमीन और मकान हड़प कर लेते हैं. केन्द्र सरकार ने ऐसा कानून बनाया कि जिन्होंने आपकी जायदाद हड़प कर ली है, वे सात साल से पहले जेल से बाहर नहीं आएंगे.

मोदी ने उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर स्वास्थ्य के मोर्चे पर प्रदेश की बदहाली का जिक्र करते हुए कहा, ‘जैसे ही मैंने उनका दस्तावेज जनता के सामने रखा तो उन्हें लगा कि हमारी पोल खुल गयी, तो उन्होंने तुरंत आर्डर देकर वेबसाइट से उस पेज को हटवा दिया. इससे बड़ा कारनामे का कोई सुबूत हो सकता है क्या.’

मोदी बोले केंद्र सरकार गरीबों की थाली के लिए 30 रुपए में से 27 रुपए दे रही है लेकिन अखिलेश सरकार ने गरीबों के नाम की सूची ही नहीं दी. उनको सरकार चलाने में रुचि नहीं है. वह कभी उनको गले लगाओ तो कभी उनको लात मारो, इसी में व्यस्त हैं.

प्रधानमंत्री ने सर्जिकल स्ट्राइक के मामले पर भी विपक्षी दलों को घेरते हुए कहा कि हिंदुस्तान की सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक का पूरे विश्व में अध्ययन किया जा रहा है लेकिन देश का दुर्भाग्य है कि राजनीतिक स्वार्थ में डूबे हुए कुछ लोग देश की फौज पर सवाल खड़ा करने लगे कि सजिर्कल स्ट्राइक हुई भी थी या नहीं.

मोदी ने ‘वन रैंक, वन पेंशन’ के मुद्दे पर भी केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेसनीत सरकार को कठघरे में खड़ा किया और कहा कि उनकी सरकार ने फौजियों की यह 40 साल पुरानी मांग पूरी की है.

उन्होंने दावा किया कि अगली 11 मार्च को चुनाव के नतीजों में एसपी, बीएसपी, कांग्रेस का पत्ता साफ हो जाएगा. अगली 13 मार्च को सारा हिन्दुस्तान रंग भर-भर कर होली मनाएगा.

होली के बाद नई सरकार बनेगी और सरकार बनने के बाद उसकी पहली बैठक में ही किसानों का कर्ज माफ करने का निर्णय कर दिया जाएगा. हम जो कहते हैं, वह समयसीमा में करके रहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi