Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

अमेरिकी सीनेटरों के निशाने पर आए फेसबुक, ट्विटर और गूगल

उनकी आलोचना वर्ष 2015 की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव प्रक्रिया में रूसी एजेंटों के दखल को रोकने के लिए उचित कदम नहीं उठा सकने के लिए की गई

Bhasha Updated On: Nov 01, 2017 03:17 PM IST

0
अमेरिकी सीनेटरों के निशाने पर आए फेसबुक, ट्विटर और गूगल

अमेरिकी सीनेटरों ने फेसबुक, ट्विटर और गूगल के प्रतिनिधियों की जोरदार  खिंचाई की है. सुनवाई के दौरान उनकी आलोचना वर्ष 2015 की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव प्रक्रिया में रूसी एजेंटों के दखल को रोकने के लिए उचित कदम नहीं उठा सकने के लिए की गई.

सीनेट की न्यायिक समिति की उपसमिति की सुनवाई को गुफा जैसे कमरे में ट्रांसफर किया गया था. इस तरह की सुनवाई आम तौर पर बहुचर्चित मामलों में होती है.

सीनेटरों ने इन कंपनियों के प्रतिनिधियों से कड़े सवाल किए. नाराज सीनेटर अल फ्रैंकन ने कहा कि आप लोगों के प्लेटफॉर्म पर वो राजनीतिक विज्ञापन दे रहे हैं. उन्होंने इस बात पर नाराजगी जताई कि सभी कंपनियां उत्तर कोरिया की मुद्रा रूबल में राजनीतिक विज्ञापन को स्वीकार नहीं करने के बारे में प्रतिबद्धता नहीं जता रही हैं.

यह इस हफ्ते में होने वाली तीन में से पहली सुनवाई थी. वहीं अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के रूस के साथ संभावित संबंधों पर जांच ने रफ्तार पकड़ ली है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जो बोलता हूं वो करता हूं- नितिन गडकरी से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi