S M L

नीतीश सरकार के खिलाफ 8 और 9 दिसंबर को उपवास पर बैठेंगे उपेंद्र कुशवाहा

एनसीइआरटी ने बिहार में अपना एक क्षेत्रीय संस्थान स्थापित करने का प्रस्ताव दिया था, जिसके लिए बार बार आग्रह के बावजूद राज्य सरकार ने भूमि उपलब्ध नहीं कराया

Updated On: Dec 03, 2018 09:49 PM IST

Bhasha

0
नीतीश सरकार के खिलाफ 8 और 9 दिसंबर को उपवास पर बैठेंगे उपेंद्र कुशवाहा

केंद्रीय मंत्री और रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार में नीतीश के शिक्षा मॉडल पर सवाल उठाया. इसके साथ ही कुशवाहा ने सोमवार को घोषणा की कि प्रदेश में दो केन्द्रीय विद्यालय खोलने के लिए राज्य सरकार द्वारा जमीन आवंटित करने की मांग के साथ वे एक दिन के उपवास पर बैठेंगे.

कुशवाहा ने आरोप लगाया कि बिहार के औरंगाबाद जिले के देवकुंड और नवादा जिले में केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के लिए जमीन हस्तांतरण संबंधी कुछ कागजी कार्रवाई अबतक पूरी नहीं की जा सकी है.

यह भी पढ़ें- दिल्ली: संस्कार आश्रम शेल्टर होम से 9 लड़कियां गायब, मचा हंगामा

उन्होंने कहा कि दोनों स्थानों पर केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के आलोक में राज्य सरकार से भूमि के हस्तांतरण के लिए क्रमश: 8 और 9 दिसंबर को एक दिन के उपवास पर बैठेंगे.

एक लालू जी का चरवाहा मॉडल था, एक नीतीश जी का नालंदा मॉडल है:

कुशवाहा ने कहा 'बिहार में कभी लालू जी का चरवाहा मॉडल हुआ करता था और आज नीतीश कुमार जी का नालंदा मॉडल है. पर यह नालंदा मॉडल समझ से परे है. बिहार की जनता उनसे जानना चाहती है कि क्या यही है नालंदा मॉडल जहां के शिक्षकों को अपने वेतन के लिए प्रखंड कार्यालय से सुप्रीम कोर्ट तक की दौड़ लगानी पड़ती है.

उन्होंने पूछा 'क्या यही है नालंदा मॉडल जहां सरकारी विद्यालयों में शिक्षक पढ़ाई की जगह खिचड़ी बनाने, बच्चों के लिए मध्याहन भोजन बांटने के काम में लगे रहते हैं. क्या यही है नालंदा मॉडल जहां 100 में शून्य पाने वाले बच्चों को टॉपर घोषित कर दिया जाता है. मुख्यमंत्री जी अगर यही नालंदा मॉडल है तो इसे ध्वस्त होना चाहिए.’

उन्होंने आरोप लगाया कि एनसीइआरटी ने बिहार में अपना एक क्षेत्रीय संस्थान स्थापित करने का प्रस्ताव दिया था, जिसके लिए बार बार आग्रह के बावजूद राज्य सरकार ने भूमि उपलब्ध नहीं कराया.

यह भी पढ़ें: NDA में कुशवाहा के कमिटमेंट की 'डेडलाइन' खत्म, अब क्या होगा अगला कदम

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi