S M L

JDU से हमारा कोई गठबंधन नहीं, BJP और LJP हमारी साथी: उपेंद्र कुशवाहा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल किया उससे वे बहुत आहत हैं

Updated On: Nov 09, 2018 09:16 PM IST

FP Staff

0
JDU से हमारा कोई गठबंधन नहीं, BJP और LJP हमारी साथी: उपेंद्र कुशवाहा
Loading...

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने साफ किया है कि भारतीय जनता पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी से उनका गठबंधन कायम रहेगा, लेकिन जेडीयू से उनका कोई गठबंधन नहीं है. पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि 2014 के बाद उनकी पार्टी की ताकत बढ़ी है और वह तीन से अधिक सीटों की हकदार है.

रालोसपा प्रमुख ने कहा कि हमने ही बीजेपी और लोजपा के साथ बिहार में एनडीए बनाया था और गठबंधन धर्म का पालन करना हमारा दायित्व है. कुशवाहा ने यह भी बताया कि उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखा था.

न्यूज़18 के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल किया उससे वे बहुत आहत हैं. उन्होंने यह भी कहा कि मैं नीतीश कुमार को बड़ा भाई मानता हूं, लेकिन उन्होंने मुझे ‘नीच’ कहा.

उन्होंने यह भी कहा कि वे जल्दी ही दिल्ली में अमित शाह से मिलेंगे और सीट शेयरिंग को लेकर बात करेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि अगर बात नहीं बनती है तो वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मिलेंगे.

कुशवाहा ने खुद को एनडीए गठबंधन का स्थाई हिस्सा बताते हुए कहा कि वह जेडीयू की तरह 'आए-गए' वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि इसके लिए जेडीयू को पहल करनी चाहिए. मंत्री ने कहा कि 2020 में मुख्यमंत्री पद का दावेदार कोई भी है सकता है.

कुशवाहा ने लालू प्रसाद यादव को बिहार की राजनीति के लिए इतिहास की बात बताया और तेजस्वी यादव से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि वे अभी ट्रेनिंग ले रहे हैं. उन्हें अभी कई परीक्षाओं के दौर से गुजरना है.

सब जल्द ठीक हो जाएगा

इस बीच उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर बीजेपी ने सधी हुई प्रतिक्रिया दी है. पार्टी प्रवक्ता संजय टाइगर ने कहा कि नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा दोनों परिपक्व नेता हैं. दोनों ने साथ लंबी सियासी यात्रा तय किए हैं. सब जल्द ठीक हो जाएगा.

बीजेपी उन्हें तवज्जो नहीं देती, उसपर कुशवाहा का कहना था कि अगर ऐसा होता तो दो हफ्ते पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और नीतीश कुमार ने सीटों का घोषणा कर दी होती, लेकिन यह अभी कर लंबित है. इसका मतलब यह है कि उनकी सहमति के बिना बीजेपी ये घोषणा नहीं करना चाहती.

आगे बोलते हुए कुशवाहा ने कहा कि उन्हें दो क्या तीन सीटें भी मंजूर नहीं. उनकी पार्टी की ताकत बढ़ी है, इसलिए सीटों को संख्या ज्यादा होनी चाहिए. वो उनसे बहुत आहत हैं.

उन्होंने कहा कि उन्हें ‘नीच' कहे जाने पर वो अपने शब्द वापस लें या बंद कमरे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के सामने समझाएं कि आखिर किस संदर्भ में उन्होंने ये बात कही.

RLSP अध्यक्ष ने कहा 'अगर अमित शाह उनसे नहीं मिलेंगे, तो वो उन्हें एक पत्र लिखकर अपनी सारी बातें उनके सामने रखेंगे. अगर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित साह के स्तर पर बात नहीं बनी तो वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर उन्हें याद दिलाएंगे कि वो उनके पुराने सहयोगी हैं, जिसने उनको प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में घोषणा से पहले ही उनको पीएम पद का उम्मीदवार माना था. साथ ही कहेंगे कि जनता दल यूनाइटेड जैसे आए गए दल के लिए उनकी उपेक्षा ठीक नहीं.'

इसके अलावा कुशवाहा ने 28 नवंबर को ऊंच-नीच दिवस मनाने का भी घोषणा की है, जो दरअसल नीतीश कुमार के वक्तव्य के खिलाफ होगा.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi