S M L

एंटी रोमियो स्क्वॉड ना करें कोई गैर कानूनी कार्रवाई: यूपी सरकार

एंटी रोमियो स्क्वॉड के उत्पीड़न को रोकने के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यूपी सरकार को दिया निर्देश.

Updated On: Mar 31, 2017 05:49 PM IST

Bhasha

0
एंटी रोमियो स्क्वॉड ना करें कोई गैर कानूनी कार्रवाई: यूपी सरकार

यूपी सरकार ने पुलिस को निर्देश दिया है कि लड़कियों को सुरक्षा सुनिश्चित करने के नाम पर कोई गलत कार्रवाई ना की जाए.  एंटी रोमियो स्क्वॉड के उत्पीड़न को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को यह आदेश दिया था.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘बाल नहीं मुड़वाया जाना चाहिए, चेहरा काला ना किया जाए और मुर्गा ना बनाया जाए, ऐसे निर्देश दिए गए हैं.’ एंटी रोमियो स्क्वॉड द्वारा उत्पीड़न की खबरों के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हस्तक्षेप के बाद दिशानिर्देश जारी किए गए थे.

इस महीने बीजेपी सरकार बनने के बाद उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में पुलिस ने एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाए गए.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि एंटी रोमियो स्क्वॉड दिशा-निर्देशों का पालन करें और कानून के तहत कार्रवाई करें.

मुख्यमंत्री के आदेश पर काम कर रहा है एंटी रोमियो स्क्वॉड

अदालत की लखनऊ पीठ में एक जनहित याचिका में आरोप लगाया गया था कि पुलिस एंटी रोमियो अभियान के दौरान दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रही है. इसके नाम पर युवा जोडों को परेशान कर रही है.

अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने खुद  जिलों के प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे महिला सुरक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों की नियमित समीक्षा करें. वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दें.

टेलीविजन चैनलों के विजुअल में एंटी रोमियो स्क्वॉड को कुछ जगहों पर युवा जोड़ों को तंग करते दिखाया गया. इसके बाद मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव (गृह) से कहा कि वह एंटी रोमियो स्क्वॉड के लिए स्पष्ट दिशानिर्देश बनाएं और सुनिश्चित करें कि किसी युवा जोड़ को अनावश्यक रूप से परेशान ना किया जाए.

बीजेपी ने एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाने का वायदा विधानसभा चुनाव से पहले जारी लोक कल्याण संकल्प पत्र में किया था.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कॉलेज या अन्य सार्वजनिक जगहों पर घूम रहे किसी लड़के या लड़कों के समूह से पूछताछ करना ही मकसद है ताकि शोहदों में भय व्याप्त हो.

उन्होंने कहा कि एकमात्र प्रयास यही है कि महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो और छेड़खानी की घटना ना होने पाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi