विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

यूपी चुनाव 2017: छठे चरण में 25 फीसदी करोड़पति, चुनावी मैदान में 126 दागी

अपराधियों को टिकट देने के मामले में बीएसपी आगे जबकि, करोड़पतियों को टिकट देने में बीजेपी टॉप पर है

IANS Updated On: Mar 01, 2017 11:55 PM IST

0
यूपी चुनाव 2017: छठे चरण में 25 फीसदी करोड़पति, चुनावी मैदान में 126 दागी

उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक फर्म्स (एडीआर) ने छठे चरण के चुनाव से जुड़े आंकड़ों को लेकर अपनी रिपोर्ट जारी की है. रिपोर्ट में बताया गया है कि छठे चरण के चुनाव में करोड़पति और आपराधिक छवि वाले नेताओं की संख्या कुल उम्मीदवारों की 25 फीसदी है.

पहले बीते पांच चरणों की तरह ही छठे चरण में 20 फीसदी यानी 126 प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं. जबकि, 25 फीसदी करोड़पति चुनाव मैदान में उतरे हैं.

अपराधियों को टिकट देने के मामले में बीएसपी सबसे आगे

अपराधियों को टिकट देने के मामले में छठे चरण में बीएसपी सबसे आगे है. उसके 24 उम्मीदवारों को अपना टिकट दिया है. जबकि बीजेपी 18 ऐसे उम्मीदवारों के साथ दूसरे नंबर पर है. एसपी के टिकट से 15 और उसकी सहयोगी कांग्रेस के तीन दागी चरित्र के उम्मीदवार मैदान में हैं. आरएलडी के पांच फीसदी प्रत्याशी आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं.

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, गंभीर अपराधियों को टिकट देने के मामले में बीएसपी 41 फीसदी के साथ सबसे आगे है. वहीं करोड़पतियों को टिकट देने के मामले में बीजेपी सूची में अव्वल रही है. हालांकि, बीएसपी और एसपी भी उससे ज्यादा पीछे नही हैं.

छठे चरण के चुनाव में 17 फीसदी प्रत्याशियों पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण और महिला हिंसा जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं.

छठे चरण के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.58 करोड़ रुपये है. इस चरण में भी महज नौ फीसदी महिला प्रत्याशी मैदान में हैं.

4 मार्च को होने वाले छठे चरण में यूपी के सात जिलों आजमगढ़, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, महराजगंज और मऊ की 49 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है.

नामांकन के समय दिए गए शपथपत्र के मुताबिक, छठे चरण के सभी प्रत्याशियों में सबसे अमीर आजमगढ़ जिले की मुबारकपुर से बीएसपी के शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली 118 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ टॉप पर हैं. जबकि चिल्लूपार से बीएसपी  के टिकट पर चुनाव लड़ रहे विनयशंकर तिवारी के पास कुल 67 करोड़ की संपत्ति है.

जहां तक शैक्षिक योग्यता का सवाल है तो छठे चरण में मैदान में उतरे 53 फीसदी प्रत्याशी ग्रैजुएट या इससे ऊपर की डिग्रीधारी हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi