live
S M L

यूपी सीएम: लखनऊ में विधायकों के फैसले से पहले दिल्ली में मुलाकातों का दौर

मनोज सिन्हा सुबह वाराणसी से लेकर गाजीपुर तक मंदिर-मंदिर जाकर भगवान के दरबार में आशीर्वाद ले रहे हैं.

Updated On: Mar 18, 2017 02:10 PM IST

Amitesh Amitesh

0
यूपी सीएम: लखनऊ में विधायकों के फैसले से पहले दिल्ली में मुलाकातों का दौर

लखनऊ में बीजेपी के नए विधायकों की बैठक में तय हो जाएगा कि यूपी का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा. लेकिन, इस बैठक के पहले ही दिल्ली से लेकर लखनऊ तक हलचल तेज हो गई है.

दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने मुलाकात की. बीजेपी के यूपी के संगठन मंत्री सुनील बंसल भी उनके साथ में मौजूद थे. मुलाकात के बाद केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि विधायक नेता का चुनाव करेंगे.

गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ भी दिल्ली पहुंच गए हैं. पार्टी आलाकमान ने उन्हें दिल्ली तलब किया है.

राजनीतिक गलियारों में इस मुलाकात के मायने निकाले जाने लगे हैं. क्योंकि केशव प्रसाद मौर्य और योगी आदित्यनाथ दोनों ही मुख्यमंत्री पद की रेस में शामिल रहे हैं.

दरअसल, बीजेपी सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा के नाम पर सहमति बन गई है, जिनके नाम का एलान विधायकों की बैठक के बाद कर दिया जाएगा.

इस खबर के आते ही मुख्यमंत्री पद के दावोदार केशव प्रसाद मौर्य से लेकर योगी आदित्यनाथ के समर्थकों की तरफ से लखनऊ के बीजेपी दफ्तर के बाहर अपने नेताओं को मुख्यमंत्री बनाने की मांग शुरू हो गई.

इसके बाद पार्टी आलाकमान हरकत में आया और फिर इन नेताओं को समझाने की कोशिश की गई है. बीजेपी नेतृत्व की तरफ से योगी आदित्यनाथ से लेकर केशव प्रसाद मौर्य तक सबके दर्द पर मरहम लगाने के तौर पर देखा जा रहा है.

इतनी बड़ी जीत के बाद बीजेपी के सामने मुख्यमंत्री पद की रेस में कई नाम आ गए थे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पार्टी के भीतर की किसी भी संभावित गुटबाजी और नाराजगी को पहले ही दूर कर लेना चाहते हैं, जिससे मुख्यमंत्री के रूप में मनोज सिन्हा के नाम का ऐलान होने पर किसी तरह का कोई बवाल न खड़ा हो जाए.

उधर, मनोज सिन्हा सुबह वाराणसी से लेकर गाजीपुर तक मंदिर-मंदिर जाकर भगवान के दरबार में आशीर्वाद ले रहे हैं. वाराणसी के कालभैरव मंदिर से लेकर काशी विश्वनाथ मंदिर और फिर संकटमोचन मंदिर जाने के बाद मनोज सिन्हा ने गाजीपुर जिले के अपने पैतृक गांव में कुल देवता की पूजा करने भी पहुंचे.

हालांकि, उनकी तरफ से बार-बार यही कहा जा रहा है कि वो मुख्यमंत्री पद की रेस में शामिल नहीं है. अंतिम फैसला पार्टी संसदीय बोर्ड करेगा. लेकिन, उनके इनकार के बावजूद रेस में उन्हीं को रेस में आगे माना जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi