S M L

LIVE योगी आदित्यनाथ: योगी को कोई भिक्षा नहीं देता, अमित शाह ने सीएम की कुर्सी दे दी

योगी आदित्यनाथ सीएम बनने के बाद धड़ाधड़ फैसले ले रहे हैं

| March 29, 2017, 06:46 PM IST

FP Staff

0

Mar 29, 2017

  • 11:31(IST)

    बीजेपी को मिले प्रचंड जनादेश और योगी आदित्यनाथ को यूपी की सत्ता का कमान मिलते ही इस तरह की व्यवस्थाएं बदलने लगीं. एक मैसेज में कहा गया कि 'इतने दिनों से जो पेटा कानून नहीं कर सका (बूचड़खानों को बंद करने को लेकर) उसे एक सप्ताह के अंदर ही योगी आदित्यनाथ ने कर दिखाया.' लेकिन अवैध बूचड़खानों को लेकर यूपी पुलिस और अधिकारियों का अति उत्साह अब यूपी सरकार को अखर रहा है. क्योंकि ये मुद्दा सिर्फ कानूनी ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक भी है.

    विस्तार से पढ़ें: योगी सरकार को अवैध बूचड़खानों पर रोक के साथ पशु चोरी भी रोकनी होगी

  • 11:22(IST)

    यूपी में परीक्षाओं में नकल को रोकने के लिए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बड़ी बैठक की है. इस बैठक में सीएम योगी ने साफ कहा है कि जहां कहीं भी नकल हो रही है उसे रोकने के लिए ऐसा करें कि भविष्य में सबको एक सबक मिले.’’ योगी ने कहा, ‘’जो भी नकल कर रहे हैं या करवा रहे हैं उन्हें ऐसा सबक मिले की वह आगे से कभी ऐसा नहीं करें.’’ यीगो के साथ इस बैठक में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा भी शामिल हुए थे. दिनेश शर्मा के पास शिक्षा विभाग भी है. करीब 40 मिनट तक चली इस बैठक में सीएम योगी ने अधिकारियों से पूछा कि नकल रोकने के लिए क्या-क्या उपाय किए जा रहे हैं.​

  • 15:06(IST)

    नेम प्लेट बदलने के बाद सवाल खड़े होने लगे की आखिर नाम का चक्कर क्या है. क्यों बार-बार मुख्यमंत्री का नेम प्लेट बदला जा रहा है, योगी बाद में था, अब योगी पहले क्यों कर दिया गया है.

    विस्तार से पढ़ें: योगी आदित्यनाथ या आदित्यनाथ योगी: यूपी सीएम के नाम का चक्कर क्या है?

  • 15:04(IST)

    नवरात्रि के पहले दिन 5 कालिदास स्थित मुख्यमंत्री आवास पर नेम प्लेट बदल दी गई है. अब इस नेम प्लेट पर योगी आदित्यनाथ लिखा गया है. इससे पहले आदित्यनाथ योगी वाली नेम प्लेट लगाई गई थी. दरअसल योगी आदित्यनाथ ने जिस नाम से मुख्यमंत्री की शपथ ली थी उसी को आधार बनाकर यह नेम प्लेट तैयार कराया गया था. यह भी कहा जा रहा है कि खरमास होने की वजह से नाम को उल्टा लिखा गया था. लेकिन अब इसमें सुधार करते हुए योगी आदित्यनाथ वाली नेम प्लेट लगा दी गई है.

  • 15:28(IST)

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की सरकार को सूबे में करीब छह दिन हो चुके हैं. इसके दौरान यह सरकार तक 50 महत्वपूर्ण फैसले कर चुकी है.

    विस्तार पढ़ें: ये हैं योगी आदित्यनाथ के 50 बड़े फैसले

  • 15:26(IST)

    यूपी में मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद से ही योगी आदित्यनाथ लगातार एक्शन में हैं. अब से कुछ देर पहले सीएम योगी ने ट्वीट कर पुलिस और अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए थे.

    विस्तार से पढ़ें: गोमती की हालत देख गुस्‍साए योगी आदित्यनाथ, अफसरों को लगाई फटकार

  • 14:41(IST)

    यूपी में मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद से ही योगी आदित्यनाथ लगातार एक्शन में हैं. अब से कुछ देर पहले सीएम योगी ने ट्वीट कर पुलिस और अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए थे.
    इसी बीच योगी आदित्यनाथ सोमवार को गोमती रिवर फ्रंट भी गए. वहां उन्होंने रिवर फ्रंट का मुआयना किया और साथ ही गोमती नदी की सफाई का जायजा भी लिया. इस दौरान योगी ने रिवर फ्रंट की मीटिंग में अधिकारियों और योजना से जुड़े लोगों की खूब क्लास लगाई.योगी ने पूछा गोमती का पानी क्यों गंदा है? इसके लिए जिम्मेदार कौन है? रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट में 6 किलोमीटर नदी को 3 मीटर गहराई में गहरा किया गया है, वह कहां है? क्या ये सिर्फ कागज पर किया गया? नदी से इतनी मिट्टी निकली तो फेंकी कहां गई? गोमती को कितना गहरा किया गया? योगी ने गन्ना किसानों से लेकर नवरात्र पर साफ सफाई और सुरक्षा तक पर कड़े निर्देश दिए हैं. उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों और पुलिस को सख्त संदेश दिया है कि लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

  • 12:09(IST)

    यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार को लखनऊ के गोमती रीवर फ्रंट पहुंचे. यहां वो अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं. उनके साथ उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी हैं. रिवर फ्रंट से जुड़े हुए इंजीनियर और अधिकारी यहां मौजूद हैं. सीएम की इस रिव्यू मीटिंग का मकसद परियोजना से जुड़ी जानकारियों के बारे में जानना है. स्वाति सिंह, रीता बहुगुणा जोशी और ब्रजेश पाठक भी योगी आदित्यनाथ के साथ गोमती रिवर फ्रंट पहुंचे हैं.

  • 11:39(IST)
  • 11:14(IST)
  • 11:09(IST)

    उत्तर प्रदेश मुरादाबाद के एक परिवार ने यूपी पुलिस से अपने घर की सगाई में बीफ परोसे जाने की इजाजत मांगी लेकिन पुलिस ने इनकार कर दिया. उसे सिर्फ चिकेन बनाने की इजाजत मिली है.

    विस्तार से पढ़ें: बेटी की सगाई में बीफ बनाने की इजाजत मांगी थी, पुलिस ने कहा- सिर्फ चिकेन बनाओ

  • 11:08(IST)

    उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर हो रही कार्रवाई का विरोध करते हुए मांस विक्रेताओं सोमवार से हड़ताल पर हैं. मीट व्यापारियों ने सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है. हड़ताल में मटन और चिकन विक्रेताओं के बाद अब मछली कारोबारी भी शामिल हो गए हैं.

    विस्तार से पढ़ें: यूपी में नॉनवेज संकट! हड़ताल पर गए मीट कारोबारी

  • 11:07(IST)

    अवैध बुचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई के बीच राज्य में मटन चिकने बेचने वालों ने भी हड़ताल का एलान किया है. ये लोग सरकार की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं. उधर योगी सरकार में मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि सिर्फ अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. कानूनी बूचड़खाने नियमों का पालन करते हुए चलते रहेंगे. चिकन और अंडे बेचने वाली दुकानों को बंद करने का कोई आदेश नहीं दिया गया है. अगर सोशल मीडिया ऐसी खबरें चलती हैं तो उन पर विश्वास ना करें.

  • 10:59(IST)

    गोरखपुर के दो दिन के दौरे से लखनऊ से वापस लौटे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को लखनऊ के गोमती रीवर फ्रंट का दौरा करेंगे. इस दौरान वह वहां पर ही अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे. वहीं आज 3 बजे राज्यपाल राजभवन में प्रोटेम स्पीकर को शपथ दिलाएंगे. फतेहपुर बहादुर सिंह प्रोटेम स्पीकर बनाए गए हैं.

  • 13:12(IST)

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की नई सरकार के शासन में हिंदुओं के चार पवित्र शहरों अयोध्या, मथुरा, वाराणसी और गोरखपुर में 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिलेगी.उत्तर प्रदेश के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने रविवार को कहा, ‘मथुरा, वाराणसी, अयोध्या और गोरखपुर अब बिजली कटौती से मुक्त रहेंगे और इन जिलों में बड़ी संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए चौबीस घंटे बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी.’

    विस्तार से पढ़ें: चार पवित्र शहरों को 24 घंटे बिजली मिलेगी: श्रीकांत शर्मा

  • 12:22(IST)

    रिटायर होने के बाद भी सियासी पहुंच का लाभ उठाकर सपा सरकार में सेवा विस्तार पाए 58 अफसरों की मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने छुट्टी कर दी है. इनमें आजम खान के करीबी और काफी चर्चित अफसर श्रीप्रकाश सिंह का नाम भी शामिल है. इन्हें चुनाव के दौरान अखिलेश सरकार ने दोबारा सेवा विस्तार दिया था. 

    विस्तार से पढ़ें: याेगी ने पुरानी सरकार के 58 अफसरों की छुट्टी की, आजम के करीबी का भी नाम

  • 11:01(IST)

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार गोरखपुर पहुंचे योगी आदित्यनाथ रविवार तड़के गोरखनाथ मंदिर परिसर में स्थित अपनी गोशाला पहुंचे. यहां मुख्यमंत्री ने गायों को चारा खिलाया. दिलचस्प बात यह है कि योगी की एक आहट सुनते ही गौशाला की गायें उनसे मिलने को बेचैन हो गई. यहां लगभग हर गाय योगी की आहट पहचानती हैं.

    विस्तार से पढ़ें: सीएम योगी की आहट से दौड़ी चली आईं गोशाला की गायें

  • 10:56(IST)
  • 10:50(IST)

    गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर के बाहर एक शख्स ने आत्मदाह की कोशिश की है. वहां मौजूद पुलिसवालों ने उसे आत्मदाह करने से रोका. कहा जा रहा है कि वो शख्स कर्ज की वजह से परेशान था. यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी आज गोरखपुर के दौरे पर हैं. मठ में आज जलसे का आयोजन हुआ है.

  • 10:34(IST)

    सीएम बनने के बाद योगी आदित्‍यनाथ पहली बार गोरखपुर पहुंचे हैं.. उत्‍साह और अभिनंदन चरम पर है. सीएम योगी ने भी अपने भाषण में सभी को भरोसा दिया और दिल जीतने की कोशिश की. कैलाश-मानसरोवर जाने वाले श्रद्धालुओं को तो एक लाख रुपए के अनुदान की घोषणा भी की. लेकिन नागरिक अभिनंदन और रोड शो के पीछे उड़ती गुबार के बीच उन हजारों बच्‍चों की चीखें भी सुनाई दे रही हैं, जो पूरे इलाके में इंसेफलाइटिस से असमय मौत मुंह में जा चुके हैं.
    सीएम योगी ने अपने भाषण में संकल्‍प पत्र की बातें तो दोहराईं- विकास की नई इबारत लिखने के वादों पर प्रतिबद्धता तो जताई लेकिन बच्‍चों के लिए काल बन चुकी महामारी इंसेफलाइटिस का जिक्र तक नहीं किया.

    विस्तार से पूरा लेख पढ़ें: जयघोष में कहीं गुम न हो जाए मासूमों की चीख!

  • 10:25(IST)

    मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के गोरखपुर दौरे का आज दूसरा दिन है. दिन की शुरुआत उन्होंने गायों को चारा खिलाने के साथ की. आज गोरखनाथ मठ में भव्य जश्न का आयोजन किया गया है जिसमें गृहमंत्री राजनाथ मुख्य अतिथि होंगे. ​

  • 14:13(IST)

    आलोचना करने के लिए आप अपना पक्ष जो दबा के दिए जा रहे हैं तो जनाब उसका दूसरा पक्ष तो देख लीजिए. आपने भगवा रंग का चश्मा पहन लिया है तो आपको कोई और रंग दिखेगा ही नहीं. फिर आपको जंगल भी भगवा दिखेगा, झाड़ भी भगवा... खर पतवार भी भगवा... आप अपना चश्मा उतार नहीं रहे.... बस कहते फिर रहे हैं, वो देखो भगवा रंग में रंग दिया. भइया चश्मा उतार कर तो देखो...कई रंग नजर आएंगे.

    योगी आदित्यनाथ की इतनी आलोचना क्यों कर रहे हैं लोग. विस्तार से पढ़ें: हर चीज का रंग भगवा नहीं है...जरा चश्मा तो उतारिए जनाब!

  • 13:39(IST)

    सभ्यता और संस्कृति के नाम पर योगी की सख्ती उन लोगों को फिलहाल रास नहीं आ रही है जो अबतक स्वच्छंदता के नाम पर पाश्चात्य संस्कृति के आगोश में धीरे-धीरे समाते चले गए थे. लेकिन, उन्हें इस बात का तनिक भी इल्म नहीं था कि कैसे आधुनिकता के ब्रह्मफांस में वो फंसते चले जा रहे हैं.

    विस्तार से पढ़ें: खुद भगवाधारी हो, अब सबको भगवा पहनाओगे क्या गुरू?

  • 12:06(IST)

    इसमें कोई शक नहीं है कि योगी गलत कारणों से खबरों में रह रहे हैं. विशाल जनादेश के बाद जहां राज्य को स्थिरता और निश्चितता के रास्ते पर बढ़ना चाहिए था लेकिन वह अंधेरी-अनजान गलियों में भटकता दिख रहा है. इसके पीछे वजह योगी का रहस्यमयी राजनीतिक व्यक्तित्व है जो आधुनिक राजसत्ता के बने-बनाए सिद्धांतों के परे दिखता है. वह एक ऐसी शख्सियत हैं जो स्पष्ट रूप से धर्म को फिर से स्थापित करने की बातें करता है. लेकिन वह अब 'आधुनिक व सेकुलर राज्य' के नेता हैं. यह विरोधाभास इतना साफ है कि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता.

    अजय सिंह का लेख विस्तार से पढ़िए: योगी आदित्यनाथ! यूपी के सीएम बनिए दारोगा नहीं...

  • 11:57(IST)

    इसमें कोई शक नहीं है कि योगी गलत कारणों से खबरों में रह रहे हैं. विशाल जनादेश के बाद जहां राज्य को स्थिरता और निश्चितता के रास्ते पर बढ़ना चाहिए था लेकिन वह अंधेरी-अनजान गलियों में भटकता दिख रहा है. इसके पीछे वजह योगी का रहस्यमयी राजनीतिक व्यक्तित्व है जो आधुनिक राजसत्ता के बने-बनाए सिद्धांतों के परे दिखता है. वह एक ऐसी शख्सियत हैं जो स्पष्ट रूप से धर्म को फिर से स्थापित करने की बातें करता है. लेकिन वह अब 'आधुनिक व सेकुलर राज्य' के नेता हैं. यह विरोधाभास इतना साफ है कि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता.

    अजय सिंह का लेख विस्तार से पढ़िए: योगी आदित्यनाथ! यूपी के सीएम बनिए दारोगा नहीं...

  • 10:55(IST)

    क्या इस बात का भरोसा आप कर सकते हैं कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम से एक फर्जी ट्विटर अकाउंट चल रहा था. योगी आदित्यनाथ जब सांसद के तौर पर काम कर रहे थे तब उनके नाम पर इस अकाउंट का  इस्तेमाल किया जा रहा था. लेकिन, ये इस्तेमाल करने वाले कोई और नहीं बल्कि बीजेपी के ही लोग थे.

    विस्तार से पढ़ें: योगी को पता ही नहीं था, उनके नाम का ट्विटर कोई और चला रहा था

  • 10:52(IST)

    ये बात अपने आप में इसकी तस्दीक करती है कि योगी आदित्यनाथ की शख्सियत सिर्फ उनके कट्टर बयानों तक ही सीमित नहीं है. राष्ट्रीय मीडिया में उनकी छवि एकतरफा सोच रखने वाले और किनारे में पड़े ऐसे नेता की रही है जिनकी सुर्खियां बटोरने की क्षमता उनके हास्यास्पद बयानों तक सीमित रही है.

    विस्तार से पढ़ें: मीडिया की सख्त पहरेदारी योगी को और मजबूत न बना दे!

  • 10:34(IST)

    अपर्णा यादव और प्रतीक यादव यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने के लिए उनके वीवीआईपी गेस्ट हाउस पहुंचे हैं

  • 14:04(IST)

    अगली बार आप लखनऊ आये और मशहूर टुंडे के कबाब का जायका लेना चाहे तो शायद आप को मायूसी हो सकती. लगभग 110 साल में पहली बार टुंडे कबाब की दुकान कच्चा माल यानी भैंसे के मीट की कमी से बुधवार को बंद रही. एकाएक ये कमी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त आदेश कि अवैध बूचड़खाने बंद कर दिए जाए से उत्पन्न हुई. प्रशासन सख्त हुआ, अवैध बूचड़खाने बंद कर दिए गिये और मीट की सप्लाई एकदम से गिर गयी.

    विस्तार से पढ़ें: 110 साल में पहली बार बंद रहा लखनऊ का टुंडे कबाब

  • 13:59(IST)

    अगली बार आप लखनऊ आये और मशहूर टुंडे के कबाब का जायका लेना चाहे तो शायद आप को मायूसी हो सकती. लगभग 110 साल में पहली बार टुंडे कबाब की दुकान कच्चा माल यानी भैंसे के मीट की कमी से बुधवार को बंद रही. एकाएक ये कमी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त आदेश कि अवैध बूचड़खाने बंद कर दिए जाए से उत्पन्न हुई. प्रशासन सख्त हुआ, अवैध बूचड़खाने बंद कर दिए गिये और मीट की सप्लाई एकदम से गिर गयी.

    विस्तार से पढ़ें: 110 साल में पहली बार बंद रहा लखनऊ का टुंडे कबाब

LIVE योगी आदित्यनाथ: योगी को कोई भिक्षा नहीं देता, अमित शाह ने सीएम की कुर्सी दे दी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में दो तिहाई बहुमत हासिल करने के बावजूद मुख्यमंत्री के चयन को लेकर लम्बा इंतजार शनिवार शाम खत्म हो जाएगा. भाजपा विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री के नाम की औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी.

भाजपा विधायकों की यह अहम बैठक शाम चार बजे बीजेपी प्रदेश मुख्यालय से सटे ‘लोक भवन’ में आयोजित की जाएगी. इसमें केंद्रीय पर्यवेक्षक एम. वेंकैया नायडू और भाजपा राष्ट्रीय महासचिव भूपेन्द्र यादव भी मौजूद रहेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi