S M L

LIVE: यूपी निकाय चुनाव नतीजे 2017: मेयर की 14 सीटों पर बीजेपी और 2 पर बीएसपी ने मारी बाजी

दो घंटों की गिनती के बाद उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव के रुझानों में बीजेपी आगे बढ़ती नजर आ रही है. लखनऊ, गोरखपुर और आगरा से बीजेपी के मेयर उम्मीदवार आगे चल रहे हैं

FP Staff | December 01, 2017, 04:54 PM IST

0

हाइलाइट

Dec 1, 2017

  • 21:52(IST)

    एकबारगी नतीजे विपरीत होते तो न सिर्फ सवाल एक संन्यासी को सत्ता देने पर उठता बल्कि गुजरात विधानसभा चुनाव के लिये भी उसे बीजेपी के खिलाफ 'जनमत संग्रह' करार दिया जाता.

  • 21:11(IST)

    16 नगर निगमों में से बीजेपी ने 14 सीटों पर मेयर पद पर बाजी मारी है

  • 21:10(IST)

    राष्ट्रपति कोविंद की बहू को बीजेपी के उम्मीदवार ने हराया

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की बहू दीपा कोविंद को कानपुर देहात में स्थित झिंझक नगर पालिका परिषद् सीट पर बीजेपी के उम्मीदवार के हाथों करारी शिकस्त मिली. बीजेपी ने यहां से उन्हें टिकट देने से मना कर दिया था, इसके बाद दीपा कोविंद ने इस क्षेत्र से निर्दलीय पर्चा भरा था. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार दीपा को सिर्फ 338 वोट ही मिले.

  • 20:59(IST)

    यूपी नगर निकाय चुनाव में एआईएमआईएम ने अलग-अलग जिलो में करीब 26 सीटें हासिल की हैं

  • 20:58(IST)

    नए चुने गए मेयर में बरेली से बीजेपी की टिकट पर चुनाव जीते उमेश गौतम सबसे अधिक पढ़े-लिखे हैं, उनके पास पीएचडी की डिग्री है. गोरखपुर से बीजेपी की टिकट पर चुने गए मेयर सीताराम जायसवाल सबसे कम पढ़े-लिखे हैं, वे दसवीं पास हैं.

  • 20:54(IST)

    चुनाव आयोग ने आधिकारिक तौर से मेयर के चुनाव नतीजों की घोषणा कर दी है. बीजेपी को 14 और बीएसपी को 2 सीटें मिली हैं, एसपी और कांग्रेस का खाता तक नहीं खुल पाया

  • 20:49(IST)

    16 नगर निगमों में से बीजेपी ने 14 सीटों पर मेयर पद पर बाजी मारी है

  • 20:47(IST)

    निकाय चुनाव के नतीजों ने यूपी की राजनीति में बीएसपी के लिए एक नए अध्याय के संकेत दिए हैं

  • 20:43(IST)

    2014 के लोकसभा चुनाव और 2017 के विधानसभा चुनावों के बाद यूपी में बीएसपी के जनाधार को समाप्त मान चुकी विपक्षी पार्टियों को निकाय चुनाव के नतीजों ने तगड़ा झटका दिया है. निकाय चुनाव में उम्मीद से कहीं ज्यादा मिली कामयाबी से बीएसपी काफी उत्साहित है. प्रदेश के निकाय चुनाव में बीजेपी के बाद दूसरे नंबर की पार्टी बनने पर बीएसपी एक बार फिर से सुर्खियों में वापस आ गई है.

    प्रदेश के अधिकांश मेयर पदों पर बीजेपी की जीत ने बेशक पार्टी के जनाधार को मजबूती प्रदान की हो लेकिन बीएसपी का दूसरे नंबर पर आना अपने आप में चौंकाने वाली घटना से कम नहीं है. सभी चुनावी विश्लेषकों का विश्लेषण को बीएसपी ने झूठा साबित कर दिया है. बीएसपी पहली बार निकाय चुनाव में पार्टी सिंबल के साथ चुनाव लड़ रही है. लेकिन, प्रदेश में पार्टी की लगातार हार और गिरते जनाधार को देखते हुए इस बार पार्टी ने निकाय चुनाव में भी प्रत्याशियों को सिंबल के साथ लड़वाने का फैसला किया था.

  • 20:42(IST)

    उत्तर प्रदेश की राजनीति का ऊंट अब करवट बदल रहा है, देखना होगा कि आने वाला लोक सभा चुनाव किसके लिए क्या और कितना लाभ लेकर आता है.

  • 19:20(IST)

  • 18:43(IST)

    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर अमेठी में कांग्रेस की हार और बीजेपी की जीत पर कहा कि कांग्रेस का सुपड़ा साफ हो गया 

  • 18:40(IST)

    असदद्दुीन औवेसी की एआईएमएम पार्टी को 12 पार्षद की सीटें मिली हैं और 1 नगर पंचायत अध्यक्ष की सीट मिली है. 3 नगर पंचायत मेंबर भी एआईएमएम से चुने गए हैं. एआईएमएम के लिए यह नतीजे काफी उत्साहजनक कहे जा सकते हैं. पार्टी लंबे वक्त से यूपी में घुसपैठ की कोशिश में लगी थी लेकिन एसपी और बीएसपी की वजह से अब तक उसे यूपी में  हुए किसी भी चुनाव में कोई खास सफलता नहीं मिली थी

  • 18:33(IST)

  • 17:38(IST)

    भले ही शहरी इलाकों में कहा जा रहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ की हवा चली हो.

  • 17:22(IST)

    मुजफ्फरनगर में कांग्रेस समर्थक जीत का जश्न मनाते हुए

  • 17:20(IST)

    मुजफ्फरनगर में कांग्रेस के जीत के दावे के बाद सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. कांग्रेस के समर्थक जीत का जश्न मना रहे हैं

  • 17:01(IST)

    ये रही 16 नगर निगमों में चुने गए सभी नए मेयरों की पूरी लिस्ट

    आगरा- नवीन जैन (बीजेपी)
     

    अलीगढ़- मोहम्मद फुरकान (बीएसपी)
     

    वाराणसी- मृदुला जायसवाल (बीजेपी)
     

    गोरखपुर- सीताराम जायसवाल (बीजेपी)
     

    कानपुर- प्रमिला पांडे (बीजेपी)
     

    फिरोजाबाद- नूतन राठौर (बीजेपी)
     

    गाजियाबाद- आशा शर्मा (बीजेपी)
     

    लखनऊ- संयुक्ता भाटिया (बीजेपी)
     

    सहारनपुर- संजीव वालिया (बीजेपी)
     

    मथुरा- मुकेश आर्य बंधु (बीजेपी)
     

    अयोध्या- ऋषिकेश उपाध्याय (बीजेपी)
     

    इलाहाबाद- अभिलाषा गुप्ता (बीजेपी)
     

    मुरादाबाद- विनोद अग्रवाल (बीजेपी)
     

    झांसी- रामतीर्थ सिंघल (बीजेपी)
     

    बरेली- उमेश गौतम (बीजेपी)
     

    मेरठ- सुनीता वर्मा (बीएसपी)

  • 16:58(IST)

    बरेली से Bjp के उमेश गौतम 12757 वोट से जीते. उन्‍होंने एसपी के डॉ. आईएस तोमर को मात दी. गौतम को 139006 और तोमर को 126249 वोट मिले. यहां पर कांग्रेस तीसरे और बीएसपी चौथे नंबर पर रही.

  • 16:56(IST)

    यूपी निकाय चुनाव पर कुमार का ट्वीट: किसी को बधाई, किसी पर तंज- 

  • 16:41(IST)

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि यूपी निकाय चुनाव के नतीजे नोटबंदी और जीएसटी पर लोगों के समर्थन की मुहर हैं. ये नतीजे बताते हैं कि लोग इस बात पर सहमत हैं कि जीएसटी की वजह से बिजनेस और व्यापार करना पहले से आसान हुआ है. अब व्यापारियों के बाजार का विस्तार हो गया है. 

  • 16:35(IST)

    गोरखपुर के वार्ड-68 से निर्दलीय नादिरा खातून ने जीत दर्ज की है. योगी आदित्‍यनाथ को समर्थन करने के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर वह उनका समर्थन करेंगी. खातून ने कहा कि उन्‍होंने विकास के नाम पर चुनाव लड़ा और लोगों ने उन्‍हें जिताया.

  • 16:28(IST)

    पीएम मोदी का आभार जताते हुए ​योगी आदित्‍यनाथ का ट्वीट, 'आपकी शुभकामनाओं के लिए हृदय से धन्यवाद. यह विजय आप के नेतृत्व में अटूट विश्वास और आदरणीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी एवं भाजपा के कर्मठ कार्यकर्ताओं के कठोर परिश्रम का ही परिणाम है. हम विकास के पथ पर अनवरत कार्य करते चलेंगे.'

  • 16:19(IST)

    पीएम मोदी ने इस जीत को विकास की जीत कहा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है 'विकास की इस देश में फिर एक बार जीत हुई. उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों में भव्य जीत के लिए प्रदेश की जनता को बहुत-बहुत धन्यवाद. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी और पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को ढेरों शुभकामनाएं. यह जीत हमें जन कल्याण की दिशा में और अधिक मेहनत करने के लिए प्रेरित करेगी.'

  • 16:17(IST)

    बीजेपी के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस जीत को विकास की जीत कहा है और ट्वीट कर योगी आदित्यनाथ को बधाई दी है

  • 16:04(IST)

    मथुरा में लॉटरी से तो महोबा में सिक्का उछालकर हुआ विजेता प्रत्याशी का फैसला.

  • 16:03(IST)

    उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या के गृह नगर कौशांबी में बीजेपी सभी 6 नगर पंचायत सीटों पर हार गई

  • 16:00(IST)

    लखनऊ बीजेपी दफ्तर में जश्न मनाते कार्यकर्ता

  • 15:55(IST)
  • 15:43(IST)

    मथुरा: भाजपा प्रत्याशी मुकेश आर्य बंधु जीते. 22195 मतों से की जीत दर्ज. मुकेश आर्य बंधु को मिले 103021. कांग्रेस प्रत्याशी मोहन सिंह को मिले 80896 वोट.

LIVE: यूपी निकाय चुनाव नतीजे 2017: मेयर की 14 सीटों पर बीजेपी और 2 पर बीएसपी ने मारी बाजी

यूपी में योगी सरकार की पहली परीक्षा का शुक्रवार को नतीजा आएगा. न‍िकाय चुनाव की मतगणना को लेकर यूपी जिला प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं. सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू होगी. प्रत्येक पांच चरणों के बाद गिनती के नतीजे बताए जाएंगे. माइक से गिनती की घोषणा की जाएगी. मतगणना के लिए हर टेबल पर 4 लोगों की टीम तैयार की गई है.

योगी सरकार को उम्मीद है कि इस बार निकाय चुनाव में भी नतीजों में विधानसभा चुनाव का ही भगवा रंग दिखेगा. यूपी में पहली बार बीजेपी योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरी है. इस वजह से ये चुनाव योगी आदित्यनाथ के लिए काफी मायने रखते हैं.

हालांकि इसी साल विधानसभा चुनावों में वोटरों ने अपने मन की बात ईवीएम में कह कर सूबे का मिज़ाज सामने रख दिया था लेकिन इसके बावजूद योगी के लिए भी जनता का मन टटोलना जरूरी था. योगी सरकार के कामकाज पर जनता का फैसला निकाय चुनाव के जरिए भी सामने आ सकता है. नतीजों से साफ होगा कि सबका साथ, सबका विकास के वादे की बात करने वाली योगी सरकार पर जनता ने कितना भरोसा जताया है.

yogi akhilesh

हालांकि निकाय चुनाव में भी विपक्ष सत्ताधारी बीजेपी पर उतना हमलावर नहीं हो सका. कमजोर विपक्ष का फायदा योगी जरूर उठाएंगे. पिछले चुनाव में बीजेपी ने मेयर पद की 13 सीटों में से 11 जीती थीं. इस बार योगी पर न सिर्फ पिछले प्रदर्शन को दोहराने का दबाव होगा बल्कि बेहतर प्रदर्शन करना भी जरूरी होगा क्योंकि इसकी खास वजह गुजरात विधानसभा चुनाव है. गुजरात में 9 दिसंबर को पहले चरण का मतदान होगा. ऐसे में यूपी के निकाय चुनाव में अगर बीजेपी को उसके अनुमानों के मुताबिक जीत हासिल नहीं होती है तो इसका असर गुजरात में भी दिखाई पड़ सकता है.

वहीं दूसरी तरफ सीएम योगी की नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल उठ सकते हैं. जाहिर तौर पर बीजेपी की जीत से सीएम योगी का राष्ट्रीय राजनीति में कद ही बढ़ेगा. वहीं इन नतीजों को साल 2019 के लोकसभा चुनाव से भी जोड़ कर देखा जा सकता है. योगी आश्वस्त हैं कि वो इस चुनाव में भी विपक्ष का सूपड़ा साफ कर देंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi