S M L

लोगों की साजिश थी कि भैया के पास केवल चाबी और भाभी रह जाए: डिंपल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा, कहा किए थे बड़े-बड़े वादे

Updated On: Feb 17, 2017 08:36 PM IST

FP Staff

0
लोगों की साजिश थी कि भैया के पास केवल चाबी और भाभी रह जाए: डिंपल

एसपी सांसद डिंपल यादव ने बुधवार को औरैया में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए जनता को धन्यवाद दिया और कहा कि आपकी दुआओं और आशीर्वाद की वजह से ही हमें साइकिल मिली.

उन्होंने बीजेपी और बीएसपी पर निशाना साधते हुए कहा  कि लोगों ने साजिश तो ऐसी की थी कि आपके भईया के पास केवल चाबी और भाभी रह जाए पर आपके साथ होते हुए ऐसा हो सकता था क्या?

विकास के लिए कांग्रेस से गठबंधन 

साथ ही उन्होंने कहा, ‘आपके भईया ने बड़ा दिल दिखाया. उन्होंने देश के विकास को मद्देनजर रखते हुए कांग्रेस के साथ गठबंधन किया.  यह आपके भईया का चुनाव है. आपके सर्मथन की वजह से हम विकास की उचांइयो को छू सके है और अगर आगे भी आपन अपने भइया के साथ खड़े रहे तो आगे भी यूं ही विकास की उचांइयो को छू सकेंगे.

एक सरकार ने हाथियों को लाइन में खड़ा किया, दूसरी ने जनता को

बसपा और भाजपा पर निशाना साधते हुए डिंपल यादव ने कहा, ‘पत्थर वाली सरकार ने हाथी लगवाए. उनके कुछ हाथी बैठे हैं और कुछ खड़े हैं.'

'मैं इसमें एक लाइन जोड़ना चाहती हूं कि उनके सारे हाथी एक ही लाइन में खड़े हैं. एक सरकार ऐसी है जिसने हाथियों को लाइन में खड़ा कर दिया और दूसरी सरकार ने पूरे देश को लाइन में खड़ा कर दिया.’

सिर्फ अच्छे दिन आएगें कह देने से अच्छे दिन नही आते 

साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि उन्होंने बड़े बड़े वादे किये.

वादा किया था कि हर किसी के अकाउंट में 15 लाख रुपए डाले जाएंगे, लेकिन अभी तक किसी के अकाउंट में 15 हजार रुपए तक नहीं डाले गए.

सिर्फ अच्छे दिन आएगें कह देने से अच्छे दिन नही आ जाते है.सच तो यह है कि काम बोलता है.

हमारी सरकार आती है तो हम लोग सरकारी नौकरी में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देंगे, इसके साथ ही महिलाओं के आयु सीमा खत्म कर दी जाएगी जिससे उन्हे आयु देख अपनी उड़ाने न रोकनी पड़े.

महिलाओं के पंखों को उड़ान

साथ ही उन्होंने कहा, ‘समाजवादी पार्टी ने इस बार सरकार बनी तो बहुत ही संतुलन बनाकर काम किया जाएगा.

जहां हमने गांवों को आगे बढ़ाने के लिए काम किया, वहीं शहरों में भी विकास हुआ. ऐसी योजनाएं चलाई गईं, जिनमें लोगों को सीधे जोड़ा गया.

जो भी घोषणापत्र में वादे किए गए उन्हें पूरा किया गया.’ हम बोलने में नहा करने में विश्वास करते है . हमारा काम बोलता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi