S M L

यूपी चुनाव 2017: अल्पसंख्यकों के साथ सौतला व्यवहार कर रही बीजेपी- मायावती

मायावती ने कहा कि बीजेपी आरक्षण के मुद्दे पर आरएसएस का एजेंडे के हिसाब से काम कर रही है.

Updated On: Feb 02, 2017 04:12 PM IST

Vivek Anand Vivek Anand
सीनियर न्यूज एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
यूपी चुनाव 2017: अल्पसंख्यकों के साथ सौतला व्यवहार कर रही बीजेपी- मायावती

यूपी में चुनावी सरगर्मी के बीच मायावती ने बुलंदशहर के देहात कोतवाल माटगढ़ी में चुनावी रैली की. बसपा सुप्रीमो मायावती ने जनसभा को संबोधित करते हुए सपा, कांग्रेस और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि बीजेपी दलित विरोधी हैं, इस लिए आप लोगों से अपील है कि अपना वोट सपा-कांग्रेस के गठबंधन को वोट देकर बर्बाद न करें, बेदाग बीएसपी को वोट दें. इस बार बसपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी. बाबा साहब का सपना साकार होगा

पुत्रमोह में शिवपाल को अपमानित किया है मुलायम ने

सपा पर निशाना साधते हुए मायवती ने कहा कि इस चुनाव में सपा सरकार को काफी नुकसान होगा क्योंकि अखिलेश ने अपने चाचा और मुलायम के भाई शिवपाल यादव को काफी अपमानित किया है. सपा में दोनों खेमे अंदर ही अंदर एक-दूसरे को हराएंगे. इस पार्टी को वोट देने से अल्पसंख्यक वोट बेकार होगा. इस सरकार में हर वर्ग के लोगों की हालत खराब है.

सपा में शिवपाल यादव को अपमानित किया गया और अब एक-दूसरे को ही हराने की कोशिशें की जा रही हैं.

सपा सरकार में हर तरफ असुरक्षा का माहौल है, हर वर्ग की हालत खराब है, सांप्रदायिक दंगे चरम पर हैं.

अल्पसंख्यक समुदाय के साथ सौतेला व्यवहार कर रही बीजेपी

वहीं, मायावती भाजपा पर भी अपने जुबानी तीरों के वार करना नहीं भूलीं. उन्होंने कहा कि भाजपा यूपी में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही है.

बीजेपी के लोग यूपी की कानून वयवस्था को सुधारने के लिए बढ़-चढ़ कर बाते कर रहे हैं. वहीं उन्होंने कहा कि जनता बीजेपी से सतर्क रहे. अल्पसंख्यक समुदाय के साथ बीजेपी सौतेला व्यवहार कर रही है. आतंकवाद के नाम पर अल्पसंख्यक समुदाय को शक की नजर से देखा जा रहा है.

Narendra Modi

पीएम मोदी पर वार करते हुए बसपा सुप्रीमो ने कहा कि पीएम मोदी ने पूंजीपतियों को धनवान बनाया है. नोटबंदी के पहले उन्होंने अपने करीबियों के नोट बदलवाए. केंद्रीय बजट में भाजपा ने नोटबंदी के बाद हुई काले धन के खिलाफ कार्यवाही पर कुछ नहीं बोला. केंद्र सरकार ने लोकसभा चुनाव के दौरान किया गया एक भी वादा पूरा नहीं किया.

मायावती ने भाजपा को जातिवादी मानसिकता का शिकार बताते हुए कहा कि भाजपा ने दलितों का शोषण किया है, उनपर अत्याचार किया है. भाजपा मौजूदा आरक्षण व्यवस्था को आरएसएस के एजेंडे के हिसाब से बदलना चाहती है. यूपी में कानून व्यवस्था की हालत को दिल्ली की सरकार नहीं संभाल सकती.

वहीं, हाल ही में पोल सर्वे के नतीजे आए हैं, जिनमें बीएसपी की स्थिति बहुत कमजोर दिखाई गई है. इसपर बसपा सुप्रीमो का कहना था कि रिजल्ट आएगा तो पोल सर्वे करने वालों की पोल खुल जाएगी.

यूपी में पहले चरण का चुनाव 11 फरवरी, 2017 से शुरु हो रहा है. पहले चरण में 15 जिलों की 73 सीटों पर चुनाव होंगे. ये जिले हैं: शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, आगरा, फिरोजाबाद, एटा और कासगंज.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi