S M L

उत्तर प्रदेश: बीजेपी सरकार में नए चेहरों को मौका मिलने के आसार

सामाजिक समीकरण साधने के साथ ही क्षेत्रीय संतुलन को भी तवज्जो दिया जाएगा

Updated On: Mar 18, 2017 07:55 AM IST

FP Staff

0
उत्तर प्रदेश: बीजेपी सरकार में नए चेहरों को मौका मिलने के आसार

बीजेपी की बनने वाली नई सरकार में अनुभव व युवा दोनों को तरजीह मिलने की संभावना है. यही नहीं, सामाजिक समीकरण साधने के साथ ही क्षेत्रीय संतुलन को भी तवज्जो दिया जाएगा. पार्टी यूपी में कई नए चेहरों को सरकार में मौका दे सकती है, लेकिन आधी आबादी को भी पर्याप्त प्रतिनिधित्व मिलना तय है.

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री कोई भी हो, उसके साथ तकरीबन चार दर्जन मंत्रियों का बनना तय है, इनमें कई वरिष्ठ नेता व पूर्व की सरकारों में मंत्री रहे चेहरों को तरजीह मिल सकती है.

युवा नेताओं पर रहेगा फोकस

युवा नेताओं में सिद्धार्थनाथ सिंह, श्रीकांत शर्मा, देवमणि द्विवेदी और मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चुनाव जीते युवा नेताओं को सरकार में शामिल किया जा सकता है.

बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी से दूसरी बार विधायक बने रवि शर्मा का नाम भी आगे है. इन्हीं नेताओं में से एक को विधानसभा अध्यक्ष का पद मिल सकता है.

Lotus Bjp modi

नई सरकार में मानिकपुर से जीते और पूर्व सांसद आर.के. पटेल को मौका मिल सकता है. नेता प्रतिपक्ष रह चुके स्वामी प्रसाद मौर्य, पूर्व मुख्यमंत्री वीरबहादुर सिंह के पुत्र पूर्व मंत्री फतेहबहादुर सिंह और पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी की दावेदारी बढ़ गई है.

बीजेपी सरकार में लखनऊ से भी कई चेहरों को शामिल किए जाने की चर्चा जोरों पर है, इनमें मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को हराने वाली रीता बहुगुणा जोशी, लालजी टंडन के पुत्र आशुतोष टंडन प्रमुख हैं. साथ ही बृजेश पाठक और दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह को भी मौका मिल सकता है.

साथी दलों का भी रखा जाएगा ध्यान

'सबका साथ सबका विकास' की रट लगा रही बीजेपी ने भले ही अल्पसंख्यकों के एक बड़े वर्ग मुस्लिम समुदाय से किसी को टिकट न दिया हो, लेकिन अल्पसंख्यक सिख कोटे से विधायक हरिमिंदर सिंह उर्फ रोमी साहनी को जगह मिलनी तय है. वह बसपा छोड़कर बीजेपी में आए और विधायक चुने गए हैं.

बीजेपी इस बार महिलाओं को मंत्रिमंडल में भरपूर भागीदारी दे सकती है. इनमें रीता बहुगुणा जोशी, कृष्णा पासवान, प्रदेश महामंत्री अनुपमा जायसवाल, मंत्री नीलिमा कटियार, महिला मोर्चा की अध्यक्ष स्वाति सिंह के अलावा रजनी तिवारी, रानी पक्षालिका सिंह व कांग्रेस के गढ़ को फतह करने वाली भूपति भवन की रानी गरिमा सिंह को भी मौका मिल सकता है.

बीजेपी सरकार में गठबंधन की अन्य पार्टियों अपना दल व भारतीय समाज पार्टी को एक-एक मंत्री पद मिलना तय है. भासपा कोटे से अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर व अपना दल कोटे से दोबारा विधायक बने आर.के. वर्मा का नाम चर्चा में है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi