S M L

जिन्ना पर 'बेवजह का विवाद' खत्म करें AMU प्रशासन-छात्र: नकवी

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना न तो देश के आदर्श हैं और न ही मुसलमानों के आदर्श हैं’

Updated On: May 07, 2018 04:11 PM IST

Bhasha

0
जिन्ना पर 'बेवजह का विवाद' खत्म करें AMU प्रशासन-छात्र: नकवी
Loading...

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में जिन्ना की तस्वीर को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं रहा है. सोमवार को केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने एएमयू के प्रशासन और छात्रों से ‘बेवजह का विवाद’ खत्म करने की अपील की. उन्होंने कहा कि देश का बंटवारा करवाने वाले मोहम्मद अली जिन्ना न तो भारत के आदर्श हैं, न ही भारतीय मुसलमानों के आदर्श हैं.

नकवी ने मीडिया से कहा, ‘एएमयू के प्रशासन और छात्रों से मैं यही आग्रह करूंगा कि वो बेवजह का विवाद खत्म करें क्योंकि जिन्ना न तो देश के आदर्श हैं और न ही मुसलमानों के आदर्श हैं.’

उन्होंने कहा, ‘इस बात को यहीं खत्म करना चाहिए और विश्वविद्यालय की गरिमा का सम्मान करते हुए आगे बढ़ना चाहिए.’

बता दें कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के यूनियन हॉल में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी होने पर पिछले दिनों हिंदूवादी संगठनों और बीजेपी नेताओं ने आपत्ति जताई थी.

इस मुद्दे पर पिछले दिनों अलीगढ़ से बीजेपी के सांसद सतीश गौतम ने यूनिवर्सिटी के वीसी तारिक मंसूर को पत्र लिखा था. इसके बाद ही यह विवाद गहरा गया था और यूनिवर्सिटी में विरोध-प्रदर्शनों का दौर शुरू हो गया था. साथ ही यहां हिंसा भी भड़क उठी थी.

इस हंगामे और हिंसा को लेकर पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

बीजेपी नेताओं का कहना है कि 1938 में तस्वीर लगी जिन्ना की तस्वीर को 1947 में देश का बंटवारा होने के बाद 1947 में क्यों नहीं हटाया गया?

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi