S M L

जानिए अरुण जेटली ने 'बजट 2019' को गरीबों और किसानों का हितैषी क्यों बताया?

जेटली ने यह भी कहा कि यह बजट मोदी सरकार के एजेंडे को आगे बढ़ाने वाला है

Updated On: Feb 01, 2019 02:21 PM IST

FP Staff

0
जानिए अरुण जेटली ने 'बजट 2019' को गरीबों और किसानों का हितैषी क्यों बताया?

संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ हुई. संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चलेगा और यह वर्तमान सरकार के तहत संसद का यह अंतिम सत्र होगा.

इस सत्र के दौरान 10 बैठकें होंगी. यह मौजूदा सरकार के जरिए अपने कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया जा रहा है और 16वीं लोकसभा का आखिरी बजट सत्र है. अरुण जेटली की तबीयत खराब है इसलिए पीयूष गोयल को वित्त मंत्री का प्रभार सौंपा गया और उन्होंने ही बजट पेश किया.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली ने बजट पर टिप्पणी की है. उन्होंने कहा, 'पीयूष गोयल द्वारा पेश किया गया अंतरिम बजट नीतिगत दिशाओं में एक बड़ी उपलब्धता को दर्शाता है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने इस देश को दिया है.'

जेटली ने कहा, 'अंतरिम बजट एक ऐसा अवसर देता है जब हम पिछले पांच साल के प्रदर्शन की जांच कर सकें और लोगों के सामने उसे प्रस्तुत कर सकें.' जेटली ने इस बजट को बेहद ही शानदार करार दिया है. उन्होंने इसके लिए पीयूष गोयल को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि यह बजट मोदी सरकार के एजेंडे को आगे बढ़ाने वाला है.

अरुण जेटली ने इस बजट को गरीब और किसान का हितैषी करार दिया. उन्होंने कहा कि इससे देश के मिडिल क्लास का पर्चेसिंग पॉवर बढ़ेगा. उन्होंने यह भी कहा कि हमारी सरकार ने अबतक जो भी बजट पेश किए हैं, उससे मिडिल क्लास को लाभ मिला है.

गौरतलब है कि बजट में मिडिल क्लास को राहत दी गई है. अब 5 लाख तक की आय पर कोई कर नहीं देना होगा. इस घोषणा से 3 करोड़ लोग टैक्स स्लैब से बाहर हो गए हैं. 40 हजार की ब्याज आय पर कोई टीडीएस नहीं देना होगा. इससे पहले 2.5 लाख तक की आय पर टैक्स नहीं देना होता था जिसे बढ़ाकर अब 5 लाख कर दिया गया है.

किसानों और श्रमिक वर्ग को राहत देने के साथ ही केंद्र सरकार ने 2019 के बजट में सरकारी कर्मचारियों को भी खुश करने की कोशिश की है. इसके लिए बजट में ग्रेच्युटी और पेंशन स्कीम को लेकर बड़ा ऐलान किया गया है.

ये भी पढ़ें: Budget speech 2019: इनकम टैक्स में छूट के साथ पीयूष गोयल के बजट भाषण की बड़ी बातें

ये भी पढ़ें: Budget 2019: Income Tax छूट की सीमा 2.5 से बढ़कर 5 लाख हुई, 5 लाख की आमदनी पर कोई टैक्स नहीं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi