S M L

उज्ज्वला योजना के तहत करीब 6 करोड़ गरीब लोगों को LPG कनेक्शन मिला: कोच्चि में पीएम मोदी

पीएम ने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत मई 2016 से करीब 6 करोड़ गरीब लोगों को एलपीजी कनेक्शन प्रोवाइड करवाए गए हैं. करीब 1 करोड़ लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी है.

Updated On: Jan 27, 2019 04:47 PM IST

FP Staff

0
उज्ज्वला योजना के तहत करीब 6 करोड़ गरीब लोगों को LPG कनेक्शन मिला: कोच्चि में पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को तमिलनाडु और केरल पहुंचे. केरल में पीएम ने पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के इंटीग्रेटेड रिफाइनरी कॉम्प्लेक्स को देश को समर्पित किया.

इस कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत मई 2016 से करीब 6 करोड़ गरीब लोगों को एलपीजी कनेक्शन प्रोवाइड करवाए गए हैं. करीब 1 करोड़ लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी है.

उन्होंने कहा कि देश में सिटी गैस डिस्ट्रिब्यूशन (CGD) नेटवर्क के कवरेज का विस्तार करके सरकार पर्यावरण के अनुकूल परिवहन ईंधन CNG के उपयोग को बढ़ावा दे रही है. देश के 400 से अधिक जिलों में 10वें सीजीडी बिडिंग राउंड के सफल समापन के बाद पाइप से गैस आपूर्ति प्रदान करने के लिए जोड़ा जाएगा.

कोच्चि में पीएम मोदी ने कहा कि कच्चे तेल के आयात में कटौती के लिए, सरकार ने आयात को 10% कम करने और कीमती विदेशी मुद्रा की बचत करने की दिशा में निर्णायक कदम उठाए हैं.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मदुरै में रविवार को कहा कि NDA सरकार सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है और स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान के लिए अद्वितीय‘आयुष्मान भारत योजना’ को समग्र रूप से लागू किया जा रहा है.

मोदी ने नजदीक स्थित थोप्पुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में केंद्र ने कई कदम उठाए है.

राज्य में 1,264 करोड़ रुपए की लागत से एम्स की स्थापना होगी और राज्य में इस तरह की यह पहली सुविधा होगी. उन्होंने कहा कि एम्स ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के दृष्टिकोण को प्रदर्शित करता है.

उन्होंने कहा कि नई दिल्ली स्थित एम्स ने स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में खुद का एक नाम बनाया है और मदुरै में एम्स बनने से हम कह सकते हैं कि स्वास्थ्य देखभाल के इस ब्रांड को कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर और मुदरै तक, गुवाहाटी से गुजरात तक देश के सभी हिस्सों में ले जाया जा रहा है.’

दिल्ली के अलावा अभी छह स्थानों भोपाल, भुवनेश्वर, जोधपुर, पटना, रायपुर और ऋषिकेश में एम्स है.

उन्होंने विश्वास जताया कि इस प्रस्तावित एम्स से पूरे तमिलनाडु का फायदा होगा. उन्होंने कहा, ‘NDA सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र को विशेष तौर पर प्राथमिकता दे रही है, ताकि हर व्यक्ति स्वस्थ रहे और स्वास्थ्य देखभाल किफायती हो.’

मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत सरकार ने देशभर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में सुधार किये जाने का समर्थन किया है.

उन्होंने मदुरै, तंजावुर और तिरुनेलवेली में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक का भी उद्घाटन किया. इन ब्लॉक में उच्च स्तरीय नैदानिक उपकरण और दूसरी सुविधाएं होंगी.

प्रधानमंत्री ने कहा कि तमिलनाडु सरकार के मेडिकल कॉलेजों में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक का उद्घाटन कर उन्हें खुशी मिली है. उन्होंने केंद्र सरकार की स्वास्थ्य योजना मिशन ‘इंद्रधनुष’ का भी जिक्र किया.

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार सालों में एमबीबीएस की सीटों में लगभग 30 प्रतिशत तक इजाफा हुआ है.

मोदी ने कहा कि ‘आयुष्मान भारत’ सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल को ध्यान में रखते हुए सावधानीपूर्वक सोचा गया दृष्टिकोण है और स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान के लिए यह एक अद्वितीय पहल है.

प्रधानमंत्री आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) प्रतिवर्ष प्रति परिवार को पांच लाख रुपये तक की वित्तीय सुरक्षा उपलब्ध कराती है और यह 10 करोड़ से अधिक लोगों को कवर करती है. उन्होंने कहा, ‘दुनिया में यह सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है.’

उन्होंने कहा, ‘आज, मैं तमिलनाडु में 12 पासपोर्ट कार्यालय सेवा केन्द्रों को समर्पित करते हुए खुश हूं और यह पहल हमारे नागरिकों के लिए जीने की सुगमता को बेहतर बनाने का एक और उदाहरण है.’ यहां प्रस्तावित 750 बिस्तरों वाले आधुनिक एम्स का निर्माण कार्य पूरा होने पर 100 एमबीबीएस छात्र भी यहां पढ़ सकेंगे.

मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने तमिलनाडु को एम्स की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री का शुक्रिया अदा किया. उपमुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम ने कहा कि यहां एम्स से तमिलनाडु के दक्षिणी पिछड़े जिलों के लोगों को बहुत लाभ मिलेगा.

इससे पूर्व एमडीएमके कार्यकर्ताओं ने अपने प्रमुख वाइको के नेतृत्व में मोदी के खिलाफ काला झंडा दिखाकर प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि वह तमिलनाडु के हितों के साथ धोखा कर रहे है. पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया है.

काले गुब्बारे छोड़कर प्रदर्शनकारियों ने मोदी के खिलाफ नारे लगाए और आरोप लगाया कि उन्होंने कावेरी और अन्य मुद्दों पर तमिलनाडु के हितों के साथ धोखा किया है. हालांकि ,एमडीएमके कार्यकर्ताओं ने कहा कि वे एम्स के खिलाफ प्रदर्शन नहीं कर रहे है.

बीजेपी की तमिलनाडु इकाई की अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदर्यराजन और केन्द्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन ने प्रदर्शन करने को लेकर एमडीएमके की कड़ी निंदा की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi