S M L

त्रिवेंद्र सिंह रावत : एक और प्रचारक जो बना मुख्यमंत्री

त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के 9वें मुख्यमंत्री होंगे

Updated On: Mar 17, 2017 07:23 PM IST

FP Staff

0
त्रिवेंद्र सिंह रावत : एक और प्रचारक जो बना मुख्यमंत्री

त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के 9वें मुख्यमंत्री होंगे. रावत के नाम पर विधायक मंडल दल की बैठक में मुहर लग चुकी है. त्रिवेंद्र सिंह रावत शनिवार को देहरादून के परेड मैदान में पीएम मोदी और अमित शाह की मौजूदगी में शपथ लेंगे.

रावत ने संघ के स्वयंसेवक से लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तक का लंबा सफर तय किया है.

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अलग उत्तराखंड राज्य बनने के बाद 2002 और 2007 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की थी. दोनों बार वे बीजेपी के टिकट पर डोईवाला सीट से विधानसभा पहुंचे थे.

पिछले दो चुनावों से हार रहे थे रावत 

लेकिन इसके बाद रावत को दो लगातार विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था. वर्ष 2012 में रावत अपनी परम्परागत सीट डोईवाला छोड़कर रायपुर से चुनाव लड़े, लेकिन यहां उन्हें कांग्रेस से हार का मुंह देखना पड़ा.

इसके बाद हरिद्वार से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद जब रमेश पोखरियाल निशंक ने डोईवाला सीट छोड़ी तो त्रिवेंद्र सिंह रावत फिर से इस विधानसभा सीट से कांग्रेस के हीरा सिंह बिष्ट के खिलाफ उपचुनाव में चुनावी मैदान में उतरे, लेकिन फिर से उन्हें इस सीट पर हार का सामना करना पड़ा.

2017 के विधानसभा चुनाव में त्रिवेंद्र सिंह रावत एक बार फिर से डोईवाला विधानसभा से चुनावी मैदान में उतरे और इस बार उन्होंने कांग्रेस के हीरा सिंह बिष्ट को करारी मात दी.

पत्रकारिता से आए राजनीति में 

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लैंसडाउन के जयहरीखाल डिग्री कॉलेज से बीए और गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर से पत्रकारिता में एमए किया.

पत्रकारिता में एमए करने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत 1984 में देहरादून चले गए, जहां वे आरएसएस से जुड़ गए.

त्रिवेंद्र सिंह रावत पौड़ी जिले के जयहरीखाल ब्लाक के खैरासैण गांव के रहने वाले हैं. उनका जन्म 1960 में हुआ. उनके पिता का नाम प्रताप सिंह रावत और मां का नाम भोदा देवी है. त्रिवेंद्र रावत के पिता प्रताप सिंह रावत सेना की बीईजी रुड़की कोर में कार्यरत रहे हैं.

त्रिवेंद्र सिंह, 9 भाई बहनों में सबसे छोटे हैं. रावत की शुरुआती पढ़ाई लिखाई खैरासैण में ही हुई. त्रिवेंद्र ने कक्षा 10 की परीक्षा पौड़ी जिले में ही सतपुली इंटर कॉलेज और 12वीं की परीक्षा एकेश्वर इंटर कॉलेज से हासिल की.

देहरादून में संघ प्रचारक की भूमिका निभाने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत को मेरठ का जिला प्रचारक बनाया गया.

2013 में उन्हें बीजेपी का राष्ट्रीय सचिव बनाया गया. साथ ही झारखंड जैसे राज्य का प्रभारी और लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तरप्रदेश के सह प्रभारी की जिम्मेदारी सौंपी गई जिसे उन्होंने बखूबी निभाया.

साभार: न्यूज़18 हिंदी 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi