S M L

ट्रिपल तलाक बिल: हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही 2 जनवरी तक के लिए स्थगित

पिछले हफ्ते लोकसभा में पेश किया गया ट्रिपल तलाक बिल विपक्षी पार्टियों के भारी हंगामे और वॉक आउट के बाद मंजूर हो गया था

| December 31, 2018, 02:31 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Dec 31, 2018

  • 14:32(IST)

    भारी हंगामे के बीच राज्य सभा की कार्यवाही बुधवार 2 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दी गई है.

  • 14:29(IST)

    एनडीए की सहयोगी पार्टी जनता दल (यू) ने भी ट्रिपल तलाक पर अपना स्टैंड बदल लिया है. जेडीयू ने बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने की इच्छा जताई है.

  • 14:23(IST)

    विपक्ष के हंगामे की वजह से राज्यसभा को 15 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया है. बता दें कि कांग्रेस समेत कई दल ट्रिपल तलाक बिल को सेलेक्ट कमिटी को भेजने की मांग कर रही है

  • 14:21(IST)

    राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, 'तीन तलाक बिल एक महत्वपूर्ण बिल है जिसका करोड़ों लोगों के जीवन पर अच्छा या बुरा असर पड़ेगा. इसे सेलेक्ट कमेटी में भेजे बिना पास नहीं किया जाना चाहिए' 

  • 14:17(IST)

    राज्यसभा में तीन तलाक बिल पर जारी बहस में तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक-ओ-ब्रायन ने कहा, सभी विपक्षी पार्टियों ने तय किया है कि इस बिल को सेलेक्ट कमेटी भेजा जाए'

  • 14:01(IST)

    राज्यसभा की कार्यवाही फिर से शुरू हो गई है. आज सुबह 11 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद ट्रिपल तलाक बिल पर विपक्ष के हंगामे और शोर-शराबा के बाद उपसभापति ने कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित हो गई थी

  • 12:57(IST)

    राज्यसभा में पेश होने वाले ट्रिपल तलाक बिल पर बीजू जनता दल (बीजेडी) के सांसद प्रसन्ना आचार्य ने कहा कि इस पर सुप्रीम कोर्ट का आए निर्णय से उनकी पार्टी सहमत है. इस बिल को सदन में पास होना चाहिए लेकिन इसमें कुछ बातें ऐसी हैं जिन्हें हटाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की मांग है कि इस बिल को कुछ सुधारों के बाद राज्यसभा में जल्द से जल्द पास करवाया जाए   

  • 12:53(IST)

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तीन तलाक बिल पर अपनी पार्टी के रूख को दोहराया है. सोमवार को संसद की कार्यवाही में हिस्सा लेने जाने के दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस पर अपना स्डैंड पहले ही क्लियर कर चुकी है. बता दें कि कांग्रेस सरकार के पेश ट्रिपल तलाक विधेयक में दोषी पति को सजा के प्रावधान समेत कुछ मुद्दों का विरोध कर रही है

  • 11:22(IST)
  • 11:17(IST)

    ट्रिपल तलाक बिल को लेकर राज्यसभा में भारी हंगामा और शोर-शराबा हुआ है. जिसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के स्थगित कर दी गई है

  • 11:09(IST)

    आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को कहा कि वो अपनी पार्टी के राज्यसभा सांसदों से अपील करते हैं कि वो मुस्लिमों के उत्पीड़न का विरोध करें. सभी विपक्षी पार्टियों को एकसाथ मिलकर बीजेपी के मुस्लिम-विरोधी रवैये का विरोध करना चाहिए. सरकार जबरदस्ती ट्रिपल तलाक कानून थोपना चाहती है, जो राष्ट्रीय एकता और धर्मनिरपेक्षता के लिए खतरा है

  • 11:06(IST)

    राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के चेंबर में चल रही विपक्षी पार्टियों के नेताओं की बैठक खत्म हो गई है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक इसमें बीएसपी और एनसीपी शामिल नहीं हुईं

  • 11:05(IST)
  • 10:45(IST)
  • 10:45(IST)

    कांग्रेस ने संसद सत्र की कार्यवाही शुरू होने से पहले सोमवार सुबह अपने सांसदों की बैठक बुलाई है. कई विपक्षी दल भी राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के चेंबर में उनसे मुलाकात कर इस मुद्दे पर अपनी रणनीति पर चर्चा कर रहे हैं.

  • 10:43(IST)
  • 10:42(IST)
  • 10:42(IST)

    ट्रिपल तलाक बिल पेश होने को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने अपने-अपने सदस्यों के राज्यसभा में मौजूद रहने को लेकर व्हिप जारी किया है

  • 10:41(IST)

    संसद के उच्च सदन राज्यसभा में आज ट्रिपल तलाक बिल पेश किया जाएगा. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद इस विधेयक को सदन के पटल पर रखेंगे

ट्रिपल तलाक बिल: हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही 2 जनवरी तक के लिए स्थगित

सरकार आज यानी सोमवार को संसद के उच्च सदन राज्यसभा में ट्रिपल तलाक बिल पेश करेगी. मुस्लिमों में एक बार में तीन तलाक की प्रथा को अपराध की श्रेणी में लाने वाले इस विधेयक को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद सदन के पटल पर रखेंगे.

संसदीय कार्य राज्यमंत्री विजय गोयल ने इस विधेयक को पारित कराने में सभी दलों से समर्थन मांगा है.

सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को पता है कि उसके लिए राज्यसभा में इस बिल को पास करवा पाना आसान नहीं होगा. इसलिए उसने अपने सांसदों को राज्यसभा में पेश रहने का व्हिप जारी किया है. कांग्रेस ने भी अपने सदस्यों को राज्यसभा में मौजूद होने का व्हिप जारी किया है. अन्य पार्टियों ने भी अपने सांसदों से तीन तलाक बिल सदन में पेश करने के दौरान उपस्थित रहने को कहा है.

रणनीति बनाने के लिए कांग्रेस और विपक्षी दलों की सोमवार सुबह बैठक 

कांग्रेस ने सोमवार सुबह सत्र की कार्यवाही शुरू होने से पहले अपने सांसदों की बैठक बुलाई है. कई विपक्षी दल भी राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के चेंबर में मुलाकात कर इस मुद्दे पर सदन की अपनी रणनीति बनाएंगे.

सभापति एम वेंकैया नायडू के अपनी सास के निधन के कारण सोमवार को राज्यसभा में मौजूद रहने की संभावना नहीं है. इस स्थिति में उपसभापति हरिवंश सदन की कार्यवाही के संचालन का जिम्मा संभाल सकते हैं.

बीते गुरुवार को विपक्षी पार्टियों के हंगामे और वॉक आउट के बीच तीन तलाक बिल लोकसभा में मंजूर हो गया था. इस विधेयक के पक्ष में 245 जबकि विपक्ष में केवल 11 वोट पड़े थे. रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को दावा किया था कि भले ही राज्यसभा में एनडीए गठबंधन के पास पर्याप्त संख्याबल नहीं हो लेकिन सदन में इस विधेयक को समर्थन मिलेगा.

राज्यसभा में यूपीए गठबंधन के पास 112 जबकि एनडीए के पास 93 सदस्यों का संख्याबल हैं. 1 सीट खाली है जबकि बाकी के अन्य दलों के 39 सदस्य न तो एनडीए और न ही यूपीए से जुड़े हैं.

प्रस्तावित तीन तलाक कानून में, एक बार में तीन तलाक को गैर-कानूनी और अमान्य ठहराया गया है. दोषी साबित होने वाले शौहर को 3 साल की जेल की सजा का प्रावधान है.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi