S M L

कर्मचारियों को प्रदूषण से बचाने के लिए कंपनियां ने उठाए ये कदम...

दिल्ली-एनसीआर में कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को सुविधाजनक काम के घंटे, वर्क फ्रॉम होम और दफ्तरों में एयर प्यूरीफायर्स लगाने जैसे कदम उठाए हैं

Bhasha Updated On: Nov 12, 2017 06:49 PM IST

0
कर्मचारियों को प्रदूषण से बचाने के लिए कंपनियां ने उठाए ये कदम...

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण की स्थिति खतरनाक लेवल को पार कर गई है. इसे देखते हुए कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कई कदम उठाए हैं. इनमें सुविधाजनक काम के घंटे, घर से काम करना (वर्क फ्रॉम होम) और दफ्तरों में वायु शोधक यंत्र (एयर प्यूरीफायर्स) लगाना शामिल हैं.

दिल्ली-एनसीआर में एयर क्वालिटी इंडक्स (एक्यूआई) में आई गिरावट के बाद डॉक्टरों ने 'मेडिकल इमरजेंसी' की घोषणा की है. दिल्ली सरकार ने हाई लेवल रिस्क को देखते हुए मुख्यतः बच्चों और बुजुर्गों के लिए स्वास्थ्य सलाह जारी की है. उनसे किसी भी तरह की बाहरी गतिविधियों (आउटडोर एक्टिविटी) से बचने का सुझाव दिया है.

कंपनियों ने कर्मचारियों को स्वास्थ्य संबंधी परामर्श जारी किया है, जिसमें बताया गया है कि इस स्थिति से निपटने के लिए क्या करें और किससे बचें. इसके अलावा कुछ कंपनियों ने कर्मचारियों को प्रदूषण-रोधी मास्क वितरित करने जैसे कुछ जरूरी कदम उठाए हैं.

वातावरण में प्रदूषण की सबसे अधिक मार बच्चों और बुजुर्गों पर पड़ती है

दिल्ली के वातावरण में पीएम 10 और पीएम 2.5 खतरनाक स्तर को पार कर गया है. प्रदूषण और स्मॉग से सबसे अधिक बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गों को खतरा है

परिवहन, रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र की वैश्विक प्रौद्योगिकी कंपनी थेल्स इंडिया के कंट्री हेड और उपाध्यक्ष इमैनुअल डी ने कहा, 'हमने अपने सभी कर्मचारियों को प्रदूषण रोधी मास्क वितरित किए हैं. कर्मचारियों को लचीले काम के घंटे (फ्लैकसिबल वर्किंग आवर्स) और घर से काम करने का विकल्प भी दिया गया है. इसके अलावा कर्मचारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए एयर प्यूरीफायर्स पहले ही लगाए जा चुके हैं.'

बीते मंगलवार से दिल्ली-एनसीआर के वातावरण में प्रदूषण की मात्रा बहुत बढ़ गई है. पूरा शहर गहरे धुंध और स्मॉग की चादर में लिपटा हुआ है. यहां के वातावरण में पीएम 10 और पीएम 2.6 खतरनाक स्तर को पार कर गया है. इसे देखते हुए दिल्ली-एनसीआर के सभी स्कूलों को रविवार तक के लिए बंद कर दिया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi