S M L

इस बार गणतंत्र दिवस पर मेहमानों की मेजबानी का बनेगा रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार भारत पहली बार एक साथ इतने सारे देशों के प्रतिनिधियों की मेजबानी करेगा, ये भारतवासियों के लिए गर्व का लम्हा होगा.

Updated On: Dec 31, 2017 08:52 PM IST

FP Staff

0
इस बार गणतंत्र दिवस पर मेहमानों की मेजबानी का बनेगा रिकॉर्ड

साल के आखिरी मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि साल 2017 भारत और आसियान देशों के लिए बेहद खास रहा क्योंकि इस साल दक्षिण-पूर्व देशों के इस ब्लॉक के गठन के 50 वर्ष, तो इस संगठन से भारत के जुड़ाव को 25 वर्ष हो गए हैं.

'मन की बात' के दौरान प्रधानमंत्री ने बताया कि साल 2018 में गणतंत्र दिवस की परेड पर मुख्य अतिथि के रूप में सभी 10 आसियान देशों के प्रतिनिधि आएंगे. इन 10 देशों में ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं.

प्रधानमंत्री मोदी के अनुसार भारत पहली बार एक साथ इतने सारे देशों के प्रतिनिधियों की मेजबानी करेगा, ये भारतवासियों के लिए गर्व का लम्हा होगा.

अब तक गणतंत्र दिवस पर किसी एक देश के राष्ट्राध्यक्ष या प्रतिनिधि को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया जाता था और सिर्फ तीन मौकों पर दो-दो देशों के राष्ट्राध्यक्षों या प्रतिनिधियों मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया है. ऐसे में 10 देशों के प्रतिनिधियों का गणतंत्र दिवस पर एक साथ मुख्य अतिथि होना एक ऐतिहासिक अवसर होगा.

साल के अाखिरी 'मन की बात' के मुख्य बिंदु

साल के आखिरी मन की बात में प्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू कश्मीर प्रशासनिक सेवा के टॉपर अंजुम बशीर खान को बधाई देते हुए उन्हें कश्मीर और देश के लिए प्रेरणादायक बताया.

प्रधानमंत्री ने मुस्लिम महिलाओं के हज जाने के लिए मेहरम की आवश्यकता, जिसमें महिला के साथ किसी पुरुष के जाने की अनिवार्यता थी, को खत्म कर 1300 महिलाओं को बिना मेहरम के हज भेजे जाने के सरकार के ऐतिहासिक फैसले का जिक्र भी किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi