S M L

The Accidental Prime Minister: मध्यप्रदेश में बैन की बात बीजेपी का प्रोपेगेंडा- कांग्रेस

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इसे 2019 के आम चुनावों से पहले भाजपा द्वारा नकली प्रचार का हिस्सा बताया है

Updated On: Dec 28, 2018 03:49 PM IST

FP Staff

0
The Accidental Prime Minister: मध्यप्रदेश में बैन की बात बीजेपी का प्रोपेगेंडा- कांग्रेस

अनुपम खेर स्टारर 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के रिलीज को मध्य प्रदेश में बैन करने की खबरों का कांग्रेस ने खंडन किया है. शुक्रवार को कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि- 'ये गलत बात है. ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है. बीजेपी का फेक प्रोपगंडा हमें सवाल पूछने से रोक नहीं सकता.'

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू की लिखी किताब के आधार पर इस फिल्म को बनाया गया है. लेकिन फिल्म का ट्रेलर रिलीज होते ही अब तथ्यों से छेड़छाड़ के आरोप लगाए जा रहे हैं.

गुरुवार को फिल्म का ट्रेलर जारी किया गया था. इसमें मनमोहन सिंह को 2014 के आम चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी की अंदरुनी राजनीति का शिकार होते दिखाया गया है. 2014 के आम चुनावों में कांग्रेस को अब तक की सबसे सीटें मिली थी.

तीन मिनट के इस ट्रेलर में सोनिया गांधी, राहुल, प्रियंका और गांधी परिवार के अन्य लोगों को आड़े हाथों लिया गया. फिल्म का ट्रेलर एक डायलॉग के साथ शुरु हुआ- 'महाभारत में दो फैमिली थी. इंडिया में तो एक ही है.' इस डायलॉग के द्वारा फिल्म के राजनीतिक ढर्रे को स्थापित करने की कोशिश की गई.

कांग्रेस ने किया विरोध:

कांग्रेस के कई लोगों ने ट्रेलर में 'तथ्यों की गलत प्रस्तुति' को लेकर आपत्ति जताई है, जबकि भाजपा ने इसकी प्रशंसा करते हुए कहा है कि 'एक परिवार ने कैसे 10 साल तक देश को लूटा है इसकी सच्चाई दिखाती है.'

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इसे 2019 के आम चुनावों से पहले भाजपा द्वारा नकली प्रचार का हिस्सा बताया है, लेकिन वहीं खुद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चुप रहने का फैसला किया.

महाराष्ट्र युवा कांग्रेस ने भी फिल्म रिलीज के पहले उसकी स्क्रीनिंग की मांग की है. साथ ही उन्होंने ये घोषणा की है कि अगर उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे फिल्म को देश में कहीं भी रिलीज़ नहीं होने देंगे.

कांग्रेस ईकाई ने एक चिट्ठी में लिखा है- 'अगर ये फिल्म हमारे पदाधिकारियों को रिलीज के पहले स्क्रीनिंग के बिना और फिल्म देखकर हमारे द्वारा बताए गए आवश्यक परिवर्तनों को किए बिना रिलीज की जाती है, तो हम ये मान लेंगे कि आप जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं और फिर हमारे पास पूरे भारत में फिल्म की रिलीज को रोकने के लिए अन्य विकल्प खुले हैं.'

फिल्म पर आपत्ति जताने के लिए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे अनुपम खेर ने कहा कि इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने पास कर दिया है. और पार्टी जो कह रही है उसे महत्व नहीं दिया जाना चाहिए. उन्होंने यह भी याद दिलाया कि पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने हाल ही में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के महत्व के बारे में एक ट्वीट किया था और इसलिए उन्हें अपने समर्थकों को किसी भी तरह के गैरकानूनी कदम उठाने से रोकना चाहिए.

The accidental prime minister

खेर ने कहा, 'मेरा काम अभिनय करना है, फिल्म निर्माताओं का काम फिल्म बनाना है. फिल्म की सभी जानकारी 2014 से लोगों के सामने थी. अगर किसी को कोई शिकायत है, तो उन्हें इसके खिलाफ केस दर्ज कराना चाहिए लेकिन कोई गुंडागर्दी नहीं होनी चाहिए.'

दिग्गज अभिनेता ने कहा कि फिल्म व्याख्याओं के लिए खुली है और यह कहना गलत होगा कि यह किसी विशेष राजनीतिक दल का समर्थन या आलोचना करती है.

खेर ने फिल्म के ट्रेलर के लॉन्च के समय कहा, 'इस फिल्म की विभिन्न प्रकार की व्याख्याएं होंगी और हर किसी का इसपर अपना नजरिया होगा. लोग स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस के दौरान देशभक्ति की फिल्में रिलीज करते हैं. यह एक राजनीतिक फिल्म है और हम इसे चुनाव के समय में ही रिलीज करना चाहेंगे. इसमें क्या समस्या है?'

ये भी पढ़ें:

The Accidental Prime Minister: विवाद पर अनुपम खेर का बयान, कहा-राहुल गांधी पार्टी नेताओं को डांटे

'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर राजनीति शुरू, पुनिया ने फिल्म को बताया बीजेपी का गेम

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi